Breaking News

जमुई में ई-रिक्शा पर बच्चे का जन्म, सदर अस्पताल में द’र्द से कराहती रही गर्भवती

लेबर पेन से कराहती महिला जमुई सदर अस्पताल परिसर में ई-रिक्शा पर पड़ी रही और स्वास्थ्य कर्मी अपने में व्यस्त रहे। बार-बार आग्रह करने के बाद भी महिला को देखने कोई नहीं आया। आखिरकार दर्द से कराहती महिला ने ई-रिक्शा में ही बच्चे को जन्म दे दिया।

जानकारी के अनुसार, गुरुवार को सदर थाना के सुग्गी गांव निवासी तुफानी गोस्वामी अपनी पत्नी खुशबू कुमारी को लेकर सदर अस्पताल पहुंचे थे। उनकी पत्नी का लेबर पेन बढ़ चुका था। महिला दर्द से छटपटा रही थी। डिलीवरी कराने ई-रिक्शा से सदर अस्पताल पहुंचे। प्रसूता घंटों प्रसव पीड़ा से ई-रिक्शा पर तड़पती रही, लेकिन प्रसव वार्ड में ले जाने की कोई व्यवस्था नहीं रहने के कारण ई-रिक्शा पर ही एक बच्ची को जन्म दे दी।

ई-रिक्शा पर ही बच्चे को जन्म देने को मजबूर हुई महिला।

ई-रिक्शा पर ही बच्चे को जन्म देने को मजबूर हुई महिला।

प्रसूता के पति अस्पताल में मौजूद स्वास्थ्यकर्मी से अपनी पत्नी को प्रसव कक्ष तक ले जाने की गुहार लगाते रहे, लेकिन किसी ने मदद नहीं की। महिला ने एक लड़की को जन्म दिया। इसके बाद आनन फानन में एक महिला स्वास्थ्य कर्मी द्वारा नवजात और महिला को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

इस बारे में जमुई के सिविल सर्जन अजय भारती से बात करने की कोशिश की गई, लेकिन उन्होंने कॉल रीसिव नहीं किया। अस्पताल के मैनेजर रमेश पांडेय ने बताया कि ऐसी घटना मेरे संज्ञान में नहीं आई है। अगर ऐसा हुआ है तो जांच कर कार्रवाई करेंगे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.