Breaking News

बेतिया में दुर्गा पूजा के लिए बन रहे भव्य पंडाल:पावर हाउस चौक पर देवी की होगी चलंत प्रतिमा

बेतिया में दुर्गा पूजा की तैयारी तेज हो गई है। शहर के साथ-साथ ग्रामीण इलाकों में भी पूजा पंडाल बनने लगे हैं। पंडाल की थीम भी पिछली बार से हटकर है। कोरोना काल के बाद इस वर्ष पूजा समिति द्वारा पूजा-पंडाल की विशेष तैयारी की जा रही है। बेतिया शहर के पांच स्थान पर भव्य और आकर्षण पंडाल बन रहे हैं। आइए जानते हैं कहां क्या स्वरूप दिया जा रहा पंडाल को…

10 लाख रुपए की लागत से पंडाल और प्रतिमा
बेतिया शहर के बीचों-बीच स्थित पावर हाउस चौक पर विकास और कल्याण समिति नवयुवक संघ इस बार विशेष आयोजन कर रही है। पूजा समिति के अध्यक्ष हरेंद्र प्रसाद ने बताया कि विगत 3 वर्षों के अंतराल के बाद पुनः 10 लाख रुपए की लागत से पंडाल और देवी के चलंत प्रतिमा के दर्शन होंगे। इसमें 2.50 लाख की लागत से मां अम्बे की प्रतिमा का निर्माण हो रहा है। इस बार मां अम्बे की (बादलों की गड़गड़ाहट एवं बिजली की चमक, शेर की दहाड़ और मां जगदंबे द्वारा दानव का संहार आदि को देखकर सभी भक्त रोमांचित हो जाएंगे।

8 लाख रुपए की लागत से बनारस के विश्वनाथ मंदिर का दिखेगा स्वरूप

8 लाख रुपए की लागत से बनारस के विश्वनाथ मंदिर का दिखेगा स्वरूप

बनारस के विश्वनाथ मंदिर के स्वरूप पर बन रहा पंडाल
बेतिया शहर के उत्तर दिशा स्थित बानुछापर में 8 लाख रुपए की लागत से बनारस के विश्वनाथ मंदिर के स्वरूप के पंडाल का निर्माण किया जा रहा था। हर साल यहां दुर्गा पूजा में हजारों के संख्या में भक्तों की भीड़ उमड़ती है। इधर, पिछले दो सालों से कोरोना काल के कारण भव्य तरीके से पूजा-पाठ नहीं हो पा रहा था। इस बार पूजा समिति द्वारा पंडाल और प्रतिमा को आकर्षक रूप देने का काम किया जा रहा है।

7 लाख रुपए की लागत से इस बार यहां गुफा पंडाल का निर्माण हो रहा है।

7 लाख रुपए की लागत से इस बार यहां गुफा पंडाल का निर्माण हो रहा है।

गुफा पंडाल में बिराजेंगी मां दुर्गा
शहर के बंगाली कॉलोनी का पूजा पंडाल इस वर्ष आकर्षक का केंद्र रहेगा। 7 लाख रुपए की लागत से इस बार यहां गुफा पंडाल का निर्माण हो रहा है। यहां कोलकाता के प्रसिद्ध कलाकारों द्वारा पंडाल का निर्माण कराया जा रहा है। यहां विगत 50 वर्षों से चले आ रहे पूजन कार्य में इस वर्ष विशेष तैयारी की जा रही है। पंडाल में लाइटिंग के लिए भी कोलकाता से कारीगर को बुलाया गया है।

भव्य पंडाल का निर्माण कराने के लिए कोलकाता से कारीगर को बुलाया गया है।

भव्य पंडाल का निर्माण कराने के लिए कोलकाता से कारीगर को बुलाया गया है।

कोतवाली चौक पर 12 लाख की लागत से हो रहा पंडाल का निर्माण
बेतिया में सबसे बड़े और विशालकाय पंडाल का निर्माण शहर के कोतवाली चौक में हो रहा है। वहां इस बार नव दुर्गा पूजा समिति द्वारा 12 लाख की लागत से पूजा पंडाल का निर्माण कराया जा रहा हैं। भव्य पंडाल का निर्माण कराने के लिए कोलकाता से कारीगर को बुलाया गया है। कारिगरों द्वारा प्लाई, प्लास्टिक, लकड़ी, थर्माकोल और कपड़े का इस्तेमाल कर पंडाल का निर्माण किया जा रहा है। पूजा समिति के अध्यक्ष मनीष कुमार ने बताया कि इस वर्ष यहां भव्य पूजा पंडाल का निर्माण किया जा रहा है। मूविंग सिस्टम में मां अंबे की प्रतिमा बनाई जा रही है। मां काली द्वारा दानवों का संहार किया जाएगा।

50 सालों से गांधी मैदान में होता है मां अंबे की पूजा
बेतिया के गांधी मैदान में भी इस साल भव्य पूजा पंडाल का निर्माण कराया जा रहा है। यहां समस्तीपुर से कारीगर को पंडाल का निर्माण करने के लिए बुलाया गया है। यहां भी मूविंग सिस्टम मां अंबे की प्रतिमा बनाई जा रही है। जो देखने में आकर्षण का केंद्र बना रहेगा। यहां भी हजारों की संख्या में भक्तों की भीड़ उमड़ती है। पिछले 2 सालों से कोरोना काल की वजह से यहां भी पूजा पंडाल नहीं बन पा रहा था। हालांकि इस बार पूजा समिति द्वारा भव्य पूजा पंडाल का निर्माण कराया जा रहा है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.