Breaking News

BPSC 66वीं में औरंगाबाद से 2 लोग टॉप 10 में, महिला संवर्ग में पहले स्थान पर मोनिका

बिहार लोक सेवा आयोग की 66वीं परीक्षा में औरंगाबाद के प्रतिभा ने एक बार फिर अपना परचम लहराया है। औरंगाबाद के मोनिका श्रीवास्तव ने आयोग की परीक्षा में छठा स्थान प्राप्त किया तो वही चित्रगुप्त नगर के अंकित सिन्हा ने आठवां स्थान प्राप्त कर औरंगाबाद का नाम रोशन किया है।

वहीं मोनिका ने महिला संवर्ग में बिहार में प्रथम स्थान प्राप्त करने का गौरव हासिल किया है। मोनिका के महिला संवर्ग में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर उसे पूरे जिले की तरफ से बधाईयां मिल रही है। मोनिका अपनी सफलता का श्रेय माता पिता का आशीर्वाद, भाई बहनों एवं परिवार के सभी सदस्यों का सहयोग एवं शिक्षकों के कुशल निर्देशन को दी है।

मोनिका ने बताया कि मैं इस उपलब्धि से खुश हूं लेकिन भारतीय प्रशासनिक सेवा में जाना चाहती हूं ऐसे बिहार के लोगों की सेवा करना मेरा लक्ष्य है। बताते चलें कि मोनिका के नाना स्वर्गीय लाला शंभूनाथ पूर्व प्राचार्य एवं प्रख्यात शिक्षाविद है तथा इनकी नानी अरुण लता सिन्हा समाज सेविका है जबकि इनके मामा कमल किशोर नव बिहार टाइम्स के संपादक और श्री राम अम्बष्ट वर्षा वाणी के संपादक हैं।

बता दें कि शहर के सत्येंद्र नगर निवासी सहायक अभियंता बृजेश कुमार श्रीवास्तव एवं प्रधानाध्यापिका भारतीय श्रीवास्तव की छोटी सुपुत्री मोनिका श्रीवास्तव ने पहली बार में यह उपलब्धि हासिल की है। मोनिका ने आईआईटी के प्रवेश परीक्षा में भी लड़कियों में प्रथम स्थान प्राप्त किया था और गुवाहाटी आईआईटी से पास आउट होने के बाद वर्तमान में वह चेन्नई में एक निजी कंपनी में ऊंचे पद पर कार्यरत हैं।

अंकित बोले- मैं सोशल मीडिया से दूर था

औरंगाबाद के मदनपुर प्रखंड के सलैया गांव का रहने वाला है। यूपीएससी 197 वां रैंक है। आंगनबाड़ी सेविका मीना देवी का बेटा है। पिता छोटे व्यवसाई हैं। अंकित का कहना है कि लगातार प्रयास से सफलता हाथ लगती है। मैं छह साल तक फेसबुक और सोशल मीडिया से दूर रहा, ताकि ध्यान नहीं भटके। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले सोशल मीडिया से दूर रहें।औरंगाबाद के मदनपुर प्रखंड के सलैया गांव का रहने वाला है। यूपीएससी 197 वां रैंक है। आंगनबाड़ी सेविका मीना देवी का बेटा है। पिता छोटे व्यवसाई हैं। अंकित का कहना है कि लगातार प्रयास से सफलता हाथ लगती है। मैं छह साल तक फेसबुक और सोशल मीडिया से दूर रहा, ताकि ध्यान नहीं भटके। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले सोशल मीडिया से दूर रहें।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.