Breaking News

मुजफ्फरपुर में बागमती नदी का लगातार बढ़ रहा जलस्तर: कटरा के पीपा पुल अप्रोच पथ पर चढ़ा पानी

मुजफ्फरपुर जिले में लगातार हो रही बारिश से ग्रामीण क्षेत्र प्रभावित होने लगी है। बारिश व नदी के बढ़ते जलस्तर से जिले का कटरा प्रखण्ड के पीपा पुल का पहुंच पथ पानी में डूब गया है। जिसके वजह से इलाके के लोगो का आवागमन बाधित हो गया है। वहीं, बाढ़ का पानी कई गांवों में घुस गया है। इससे ग्रामीणों की परेशानी बढ़ गई है।बताया जा रहा है कि बागमती के जलस्तर में लगातार वृद्धि जारी है। दो दिनों में जलस्तर में पांच फीट पानी की वृद्धि दर्ज की गई है। इसके साथ ही कटरा की लाइफ लाइन कहे जाने वाले पीपा पुल पर पानी आ जाने से आवागमन ठप हो गया है।

पुल के उत्तरी व दक्षिणी भाग में एप्रोच पथ में करीब तीन फीट पानी है। इससे लोगों को पुल तक पहुंचना कठिन हो रहा है। पुल संचालक अजीत झा ने बताया कि जलस्तर में कमी नहीं होने पर पुल पर आवागमन चालू नहीं हो सकेगा। इसके बंद होने से कटरा उत्तरी पंचायत की करीब दो लाख की आबादी प्रभावित हो गई है। मालूम हो कि कटरा मुख्यालय में प्रखंड, अंचल, थाना के अलावा निबंधन कार्यालय है। यहां औराई, गायघाट, हथौड़ी आदि से लोग भूमि का निबंधन कराने आते हैं। मार्ग अवरुद्ध हो जाने से उनके सामने कोई विकल्प नहीं बचा है।

वहीं, प्रखंड मुख्यालय जाने के लिए 14 पंचायतों का सड़क संपर्क भंग हो गया है। जरूरतमंद लोग बेनीवाद-भुसरा मार्ग से 60 से 80 किमी की दूरी तय करने को विवश हैं। उधर, बाढ़ का पानी पतांरी, अंदामा, नवादा, माधोपुर के निचले भागों में घुस गया है। इससे आवागमन के साथ ही मवेशियों का रखरखाव भी कठिन हो गया है। अंदामा मध्य विद्यालय में पानी पहुंच जाने से पठन-पाठन मुश्किल हो गया है। नवादा मध्य विद्यालय परिसर में पानी घुस गया है।

वहीं, कटरा कन्या प्राथमिक विद्यालय चारों तरफ पानी से घिर गया है। बकुची-पहसौल मार्ग में बसघटृा डायवर्सन पर चार फीट पानी बह रहा है। पैदल यात्री चचरी से आवागमन कर रहे हैं। जलस्तर में वृद्धि से कटरा-माधोपुर, तेहवारा-बर्री व धोबौली-चंगेल मार्ग पर आवागमन बाधित है। अभी कहीं पर बाढृ सहायता केंद्र नहीं बनाया गया है।

एसडीओ पूर्वी ज्ञानप्रकाश ने बताया कि अभी बाढ़ नियंत्रण में है। जलस्तर की स्थिति पर नजर रखी जा रही है। आवश्यकता पड़ने पर शीघ्र ही राहत कैंप शुरू किए जाएंगे। पूरी तैयारी कर ली गई है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.