Breaking NewsDELHI

दिल्ली में अचानक कैसे कम हो गए कोरोना केस, ये हो सकती है बड़ी वजह, देखें रिपोर्ट

नई दिल्ली: कोरोना वायरस की तीसरी लहर (Covid Third Wave) में देश भर कोरोना के मामलों में उछाल देखने को मिली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Corona Cases in Delhi) में भी इस दौरान अचानक से भारी तादाद में कोरोना केस (Delhi Corona Update) सामने आए. तीसरी लहर में दिल्ली में कोविड (Delhi Covid Update) के मामले किस रफ्तार से बढ़े इसका अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि जनवरी के पहले सप्ताह में जहां सक्रीय मामलों  की संख्या 5 हजार से भी कम थी. वहीं अब राजधानी में इस समय 93 हजार से अधिक एक्टिव (Delhi Corona Active Cases) केस हैं. तेजी से बढ़ते मामलों के बीच अब अचानक से कोविड केस में गिरावट आ गई है. घटते मामलों के पीछे कोरोना की टेस्टिंग का कम होना भी एक बड़ा कारण बताया जा रहा है.विज्ञापन

दिल्ली में दो दिन से कोरोना केस में गिरावट (Corona Cases Decreased) आई है. कोरोना के घटते मामलों ने (Corona Update) ने लोगों को थोड़ी सी राहत जरूर दी है लेकिन यह भी जानना जरूरी है कि आखिर ऐसा क्या हुआ जो कि दिल्ली में अचानक से कोरोना के मामलों में गिरावट आने लगी. दिल्ली में 13 जनवरी को 28,867 मामले दर्ज किए गए थे जो कि कोविड की तीसरी लहर में दिल्ली (Delhi Covid19 Update) में एक दिन में संक्रमण का सबसे बड़ा आंकड़ा था. इसके बाद 14 जनवरी को राजधानी में 24,383 मामले सामने आए थे.

30 प्रतिशत के ऊपर है पाजिटिविटी रेट
शनिवार यानी आज 15 जनवरी को लगातार तीसरे दिन दिल्ली में कोविड के मामलों में गिरावट दर्ज की गई. आज यहां 20 हजार 718 मामले सामने आए. हालांकि इस बीच पाजिटिविटी रेट 30 प्रतिशत से अधिक दर्ज की गई जो कि एक चिंता का विषय है.

दिल्ली में कोरोना संक्रमण के केसेस की गिरावट के पीछे एक बड़ा कारण परीक्षण में कमी लाना भी हो सकता है. स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में 13 जनवरी को 98,832 लोगों का कोविड टेस्ट हुआ था, जबकि वहीं 14 जनवरी को 79,578 लोगों का कोरोना परीक्षण किया गया. अगर आज की बात करें तो 15 जनवरी को सिर्फ 67624 लोगों का ही कोरोना टेस्ट किया गया

केंद्र सरकार के प्रोटोकॉल की वजह से कम परीक्षण
दिल्ली सरकार कोरोना संक्रमण के मामलों में गिरावट के पीछे परीक्षण की कमी को कारण नहीं मानती. स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि हमने टेस्ट कम नहीं किए हैं बल्कि केंद्र सरकार के प्रोटोकॉल की वजह से परीक्षण के मामलों में गिरावट आई है. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि दिल्ली में कोरोना का पीक आ चुका है और अब देखना होगा कि मामलों में गिरावट कब आती है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना मामलों में कमी आना शुरू हो गई है.

इस बीच दिल्ली में कोरोना की तीसरी लहर में सेल्फ कोविड टेस्ट किट की भी डिमांड बढ़ गई है. अब लोग खुद से घरों में ही टेस्ट के जरिए यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि वह कोविड पॉजिटिव हैं या नहीं. सेल्फ कोविड टेस्ट को लेकर सत्येंद्र जैन ने कहा कि आईसीएमआर ने उसके लिए गाइडलाइन बनाई है और उसकी रिपोर्ट वहां अपलोड होती है और हमारे बुलेटिन में भी वह दिखती है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.