BIHARBreaking NewsSTATE

सरकारी शिक्षक निकला धनकुबेर, बैंक लॉकर से 1 करोड़ कैश और 2 किलो सोने की ईंट बरामद, IT की रेड से हुआ खुलासा

नालंदा. बिहार के अलग-अलग जिलों में इन दिनों किसी न किसी भ्रष्टाचारी धनकुबेरों के खिलाफ कार्रवाई देखने को मिल रही है. बीते दिनों समस्तीपुर में सीओ और थानेदार के खिलाफ घूस लेने के आरोप में कार्रवाई के बाद अब ताजा मामला सीएम नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा से आ रहा है, जहां एक सरकारी शिक्षक (Government Teacher) के बैंक लॉकर से एक करोड़ रुपये और लाखों के जेवर भी बरामद हुए हैं. मिली जानकारी के अनुसार नालंदा (Nalanda) जिले के थरथरी प्रखंड के मिडिल स्कूल भहतर में पदस्थापित शिक्षक नीरज कुमार शर्मा के पटना स्थित घर इनकम टैक्स की छापेमारी हुई तो उनके पास अकूत संपत्ति होने का खुलासा हुआ. बताया जाता है कि इनकम टैक्स (Income Tax) की इस रेड में धनकुबेर शिक्षक के बैंक लॉकर में एक करोड़ रुपये नगद के साथ-साथ दो किलो सोना (Gold Brick) होने की जानकारी मिली.
सरकारी स्कूल के शिक्षक के बैंक लॉकर (Bank Locker) में इतनी बड़ी राशि मिलने के बाद से इनकम टैक्स के अधिकारी भी हैरान हैं. शिक्षक नीरज कुमार शर्मा भी इस संपत्ति का स्त्रोत बता नहीं पा रहे हैं. हालांकि बताया जा रहा है कि आय से अधिक संपत्ति रखने के मामले में शिक्षक को अपनी संपत्ति का ब्योरा देने के लिए एक महीने का समय दिया गया है.


बैंक लॉकर से मिली सोने की चार ईंटें
बताया जा रहा है कि थरथरी प्रखंड के एक सरकारी हाइस्कूल के शिक्षक नीरज कुमार के बैंक लॉकर से एक करोड़ कैश और दो किलो सोना के साथ कई अन्य अहम दस्तावेज मिले हैं. बताया जाता है कि पटना के बहादुरपुर इलाके में मौजूद SBI की शाखा में उनके नाम से मौजूद लॉकर को आयकर अधिकारियों ने बुधवार को खोला, तो इसमें 250 ग्राम वजन की सोने की चार ईंटें मिलीं और साथ ही एक करोड़ कैश भी मिला.


2000 के नोटों का बंडल देख दंग रह गए अधिकारी
बताया यह भी जाता है कि यह रकम दो हजार रुपये के नोट के बंडलों में था. इसके साथ कुछ अन्य दस्तावेज भी मिले हैं, जिसकी जांच चल रही है. शिक्षक नीरज कुमार शर्मा नवरचना कंस्ट्रक्शन कंपनी के मालिक राकेश कुमार सिंह के रिश्तेदार हैं. बताया जाता है कि यह रुपये उनके भी हो सकते हैं, लेकिन इस संबंध में अभी तक कोई दस्तावेज़ नहीं मिला है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.