Breaking NewsMADHYA PRADESH

उज्जैन: 28 जून से आम श्रद्धालुओं के लिए खुलेंगे बाबा महाकाल के द्वार, प्रवेश के लिए बनाए गए ये नियम

उज्जैन. कोरोना ( Corona ) को लेकर बंद किए गए उज्जैन महाकाल मंदिर ( Mahakal Mandir ) के पट अब आम श्रद्धालुओं के लिए खुलेंगे. इसी माह की 28 तारीख से श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश मिलना शुरू हो जाएगा. एंटीजन टेस्ट की सुविधा मंदिर में ही रहेगी.  इसके साथ 48 घण्टे पहले की आरटीपीसीआर की नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट या वेक्सीन के सर्टिफिकेट पर ही प्रवेश मिलेगा.

उज्जैन आपदा प्रबंधन की बैठक में फैसला लिया गया है कि आगामी 28 जून से महाकाल मंदिर श्रद्धालुओं के लिए खोला जाएगा. साथ ही तीन अन्य मंदिर हरसिद्धि, काल भैरव और मंगलनाथ मंदिर भी महाकाल मंदिर के साथ ही जून के आखरी सप्ताह में खोले जाएंगे.  इसके अलावा जिले के अन्य मंदिर को शुक्रवार से खोलने की अनुमति देदी गई, लेकिन सिर्फ 4 श्रद्धालु एक बार में प्रवेश कर सकेंगे.  इसके अलावा उज्जैन शहर में अब तक  लेफ्ट और राइट  के मान से खुल रहे बाजार को भी पूरी क्षमता के साथ  खोलने की अनुमति मिल गई है, जिसके बाद धीरे धीरे बाजार में रोनक दिखाई देने लगी.उज्जैन बृहस्पति भवन में आपदा प्रबंधन की बैठक रखी गयी जिसमें उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ,विधायक पारस जैन , सांसद अनिल फिरोजिया, कलेक्टर आशीष सिंह, एसपी सत्येंद्र शुक्ल सहित आला अधिकारी मौजूद थे.  बैठक में उज्जैन शहर को पूरी तरह अनलॉक करने को लेकर रजामंदी हुई जिसमें पहले शहर में लेफ्ट और राइट के मानक से दुकाने खुल रही थीं, लेकिन शुक्रवार को निर्णय लेकर जिले को पूरी तरह अनलॉक कर दिया गया. अब सुबह 6 बजे से शाम 7 बजे तक पूरा बाजर खुल सकेगा. वंही, 15 जून से खुलने वाला विश्व प्रसिद्ध महाकाल मंदिर सहित काल भैरव, हरसिद्धि और  मंगलनाथ  मंदिर को चरणबद्ध तरीके से खोला जायेगा.  ताकि एक मंदिर खोलते से ही एक दम श्रद्धालुओं की भीड न पहुंच जाए.

महाकाल के दर्शनों के लिए अब ये करना पड़ेगा श्रद्धालुओं को

आपदा प्रबंधन की बैठक में निर्णय लिया गया कि महाकाल मंदिर सहित तीन अन्य मंदिर को छोडक़र बाकी सभी मंदिर शुक्रवार से खुल जाएंगे.  उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह ने कहा की महाकाल मंदिर काल भैरव और  मंगलनाथ मंदिर में ना सिर्फ उज्जैन और आसपास के बल्कि बड़ी संख्या में देश -विदेश से भी श्रद्धालु दर्शन के लिए पहुचेंगे.  ऐसे में 28 जून से महाकाल मंदिर में उन श्रद्धालुओं को ही प्रवेश मिलेगा जो  वेक्सीन लगवा चुके हों या फिर 48 घण्टे पहले की आरटीपीसीआर की नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट श्रद्धालु के पास हो. इसके अलावा  महाकाल मंदिर के बाहर कोरोना का टेस्ट के लिए एक यूनिट भी रखी जा सकती है. अगर कोई श्रद्धालु बिना जानकरी के महाकाल मंदिर पंहुचा तो उसका एंटीजन टेस्ट करके भी रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद मंदिर में प्रवेश मिल सकेगा.  कलेक्टर ने कहा कि महाकाल मंदिर को खोलने से पहले एक बार मंदिर समिति की बैठक होगी जिसमें सभी दिशा निर्देश तय किये जाएंगे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.