BIHARBreaking NewsMOTIHARISTATE

मोतिहारी : मजबूत इच्छा शक्ति के बल पर कोरोना से जीता जंग – डॉ आरबी सोनी

-होम आइसोलेशन में चिकित्सक की देखरेख व संतुलित भोजन के उपयोग से हुआ स्वस्थ

  • गर्म पानी, काढ़े का सेवन से मिलता था बहुत आराम

मोतिहारी, 11 जून 21 ।

जिले के कल्याणपुर प्रखण्ड के 26 वर्षीय युवा दंत चिकित्सक आरबी सोनी आरबी सोनी ने बताया ‘‘कोरोना महामारी से बचने के लिए मैं बराबर सावधान रहता था , परन्तु कुछ समय पूर्व जब मरीजों की चिकित्सा करते हुए औऱ मेरे घर पर अष्टयाम , पूजा पाठ के दौरान लोगों से मिलने में जो भूल हुई उसके 2, 3 दिनों बाद मेरे शरीर में थकान, बदन दर्द हुआ. फिर अचानक रात में 103 डिग्री बुखार हुआ। खाँसी, कफ एवं ज्यादा कमजोरी महसूस हो रही थी, तब मुझे समझते देर न लगी कि मुझे कोरोना हो गया, फिर मैंने बिना पल गंवाए एंटीजन टेस्ट करवाया, जिसमें मुझे कोरोना पॉजिटिव बताया गया। पहले तो मैं घबराया परंतु दिल में आत्मविश्वास था कि मैं जल्द ही कोरोना से ठीक हो जाऊंगा, उसके बाद मैंने अपने वरीय सहयोगी पटना पीएमसीएच के डॉक्टर सुशील कुमार से संपर्क किया एवं उनकी देखरेख में दवाओं का सेवन किया’’ ।

1 सप्ताह में हुआ कोरोना से ठीक:

आरबी सोनी कहते हैं, ‘‘मैं घर मे आइसोलेट रहकर ही डॉक्टर के निर्देश अनुसार दवाओं का सेवन किया, जिससे मात्र 8 दिन में ही मेरा कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव हो गया। पिछली कोरोना काल मे भी मैंने मरीजो की सेवा की परन्तु मैं सुरक्षित रहा । कोविड होने के बाद मैं अलग कमरे में रहता था। मास्क , सैनिटाइजर के प्रयोग के साथ संतुलित भोजन, हल्दी वाला दूध , आयुर्वेदिक काढ़े, गर्म पानी के गरारे खूब करता था। जिससे मुझे बेहद आराम मिलता था। डॉ शुशील द्वारा बताए सस्ती एवं कम दवाओं का नियमित सेवन कर 1 सप्ताह में ही मैं ठीक हो गया । कोरोना से बचने के लिए रोज गर्म पानी से गरारा व स्नान भी करता था’’ ।

संतुलित आहार का किया सेवन:

आरबी सोनी ने बताया वह भोजन में अंडा, दुध, हरी सब्जियां, प्रोटीन युक्त आहार ,नारंगी, सेव आदि फलों का भी खूब सेवन करते थे। उस दौरान वह मन नहीं लगने पर गाना भी सुनते थे एवं खुश रहने का प्रयास करते थे। साथ ही मन मे ये हिम्मत और विश्वास भी था कि वह जल्द ही इस कोरोना से ठीक हो जाएंगे। लोगों से मिलना ,अखबार, टीवी देखना भी बंद कर दिया था । क्योंकि उस समय हर तरफ निगेटिव खबरें ज्यादा सुनाई देती थी। घर परिवार के लोगों ने लगातार उनका हौसला बढ़ाया। उस दौरान उनके संपर्क में आने के कारण उनकी माँ, बड़ी बहन भी कोरोना से संक्रमित हुई ।

पेट के बल सोकर ऑक्सीजन लेवल ठीक किया:

आरबी सोनी कहते हैं, ‘‘मेरा ऑक्सीजन लेवल 93 हो गया था. वहीँ, मेरी माँ का ऑक्सीजन लेबल 90 हो गया था. तब मैं औऱ मेरी माँ बिना ऑक्सीजन के सहायता से रात में पेट के बल सोकर ऑक्सीजन लेवल को ठीक किया। अब मैं औऱ मेरा परिवार पूर्णतः ठीक हैं। कोविड पॉजिटिव होने के कारण मेरी शादी में बाधा हुई औऱ मुझे शादी का दिन भी आगे बढ़ाना पड़ा । अब मैं पूरी तरह स्वस्थ होकर अस्पताल, व आयोजित कैम्पो में मरीजो का सेवा कर रहा हूँ’’ । आरबी सोनी का कहना है भारत मे बना कोविड का टीका पूर्णतः सुरक्षित है । कोविड 19 से बचने के लिए टीकाकरण आवश्यक है । उन्होंने गांव समाज के लोगों को भी कोरोना का टीकाकरण करवाने के लिए प्रेरित करने का काम किया ताकि वे सभी कोरोना महामारी से बच सकें । उन्होंने कहा निश्चित समय अंतराल के बाद जल्द ही वह कोविड 19 का टीका भी लेंगे। डॉ सोनी ने आम लोगों से अपील की है कि मास्क लगाएं , शोशल डिस्टनसिंग का पालन करें तथा अधिक से अधिक संख्या में टीकाकरण कराएं तभी कोरोना महामारी से बच पाएंगे ।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.