Breaking NewsHealth & WellnessNational

कोरोना वैक्सीन के इमरजेंसी यूज की मंजूरी पर पीएम मोदी ने दी बधाई, कहा- पूरे देश के लिए गर्व का पल

नई दिल्ली. देश में कोरोना वैक्सीन को लेकर ड्रग्‍स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने बड़ा ऐलान कर दिया है. DCGI ने सीरम इंस्टीट्यूट की वैक्सीन कोविशील्ड (Covishield) और भारत बायोटेक की वैक्सीन कोवैक्सीन (Covaxin) के आपातकाल इस्तेमाल की अंतिम मंजूरी दे दी है. DCGI से मंजूरी मिलने के बाद इन दोनों कोरोना वैक्सीन को अब आम लोगों को लगाया जा सकेगा. वैज्ञानिकों की इस सफलता पर अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे देश को बधाई दी है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा, हर भारतीय को गर्व होगा कि जिन दो टीकों को आपातकालीन उपयोग की मंजूरी दी गई है वे भारत में बने हैं! यह आत्मनिर्भर भारत के सपने को पूरा करने के हमारे वैज्ञानिकों के सपने को दर्शाता है, जिसके मूल में मरीजों की देखभाल और करुणा है.

सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला कोराना वैक्सीन को मंजूरी मिलने पर खुशी जाहिर की है. उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, सभी को नया साल मुबारक हो! सभी जोखिम जो सिरम इंस्टीट्यूट ने वैक्सीन को स्टॉक करने के लिए उठाए थे, उसका आखिकार बेहत परिणाम सामने आया है. भारत का पहला कोविड 19 वैक्सीन अगले हफ्ते तक आपके सामने होगा. यह पूरी तरह से सुरक्षित और प्रभावी है.

टीकाकरण के दौरान वैक्‍सीन की 2-2 डोज दी जाएंगी
बता दें कि ड्रग्‍स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने प्रेस कॉन्‍फ्रेंस करते हुए बताया कि देश में सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) की कोविशील्‍ड वैक्‍सीन और भारत बायोटेक की कोवैक्‍सीन को आपातकाल के लिए मंजूरी दी गई है. सीरम इंस्‍टीट्यूट कोविशील्‍ड को ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ मिलकर बना रहा है. डीसीजीआई ने जानकारी दी है कि कोविशील्‍ड और कोवैक्‍सीन पूरी तरह से सुरक्षित हैं. टीकाकरण के दौरान इन वैक्‍सीन की 2-2 डोज दी जाएंगी. वहीं कैडिल हेल्‍थकेयर की वैक्‍सीन के क्‍लीनिकल ट्रायल के तीसरे चरण को भी मंजूरी दी गई है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.