BIHARBreaking NewsMUZAFFARPURSTATE

मुजफ्फरपुर में नववर्ष पर मंदिरों में विशेष तैयारी, आयोजनों से माहौल भक्तिमय

नववर्ष के आगमन को लेकर मंदिरों को विशेष रूप से सजाया गया है। सेवादल और मंदिर कार्यकारिणी की ओर से सदस्यों की तैनाती की गई है, ताकि विधि व्यवस्था बनी रहे। बाबा गरीबनाथ मंदिर में विशेष तैयारी रहेगी। प्रधान पुजारी पं.विनय पाठक ने बताया कि सुबह पांच बजे के बाद भक्त बाबा का दर्शन कर सकेंगे। दोपहर में 12 बजे से 2:30 बजे तक मंदिर बंद रहेगा। इसके बाद रात 8:30 बजे तक मंदिर भक्तों के लिए खुला रहेगा। उन्होंने बताया कि शाम में बाबा का विशेष शृंगार होगा। श्रद्धालुओं से अनुरोध किया कि कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर मास्क लगाकर ही आएं। साथ ही मंदिर परिसर में आभूषण, पैसे व कीमती मोबाइल लेकर नहीं आएं। 

देवी मंदिर की भव्य सजावट, सुबह 6:30 बजे से माता का दर्शन 

रमना स्थित देवी मंदिर में भक्त सुबह 6:30 बजे से मां का दर्शन कर सकेंगे। प्रधान पुजारी आचार्य अमित तिवारी ने बताया कि भक्त शारीरिक दूरी का पालन करते हुए मां का दर्शन करेंगे। सुबह 6:30 बजे मां की महाआरती में श्रद्धालु शामिल हो सकते हैं। 

बगलामुखी मंदिर में हल्दी-दही चढ़ा करें दिन की शुरुआत 

बगलामुखी मंदिर का पट सुबह पांच बजे भक्तों के लिए खोल दिया जाएगा। महंत अजीत कुमार ने बताया कि यहां हल्दी और दही चढ़ाकर दिन की शुरुआत करें। मां की कृपा बनी रहेगी। उन्होंने कहा कि सुबह पांच से दोपहर 12 और शाम चार से रात नौ बजे तक मंदिर भक्तों के लिए खुला रहेगा। 

भजनों की प्रस्तुति से सराबोर हुए भक्त

कलमबाग चौक स्थित श्री हनुमान मंदिर में शुक्रवार को दोपहर से अष्टयाम महायज्ञ शुरू हुआ। मंदिर को आकर्षक तरीके से सजाया गया है। संध्या से ही भजनों की प्रस्तुति से श्रद्धालु सराबोर हो गए। मंदिर के अध्यक्ष अजय कुमार सिंह और संयोजक संजय कुमार सिन्हा ने बताया कि लगातार 23 वर्षों से भक्तों के सहयोग से हनुमान मंदिर पूजा समिति यह आयोजन कर रही है। इसमें रत्नेश सिंह, सुनील चौधरी, महेश शर्मा, रंजय कुमार, मदन महतो, लालू रजक, चंद्रमोहन झा व मुख्य यजमान संजय पांडेय हैं। 

श्याम मंदिर में सजेगा दरबार

सूतापट्टी स्थित श्याम मंदिर में नववर्ष पर सुबह 11 बजे से श्याम मंदिर परिवार महिला मंडल की ओर से भजन-कीत्र्तन होगा। मंदिर सुबह छह बजे भक्तों के लिए खुल जाएगा। मंदिर की आकर्षक सजावट की गई है। 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.