Breaking NewsHealth & WellnessInternational

कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आने के बाद इटली की नर्स ने किया सु’साइड, ताकि दूसरों में ना फैले कोरोना…

महामा’री बन चुके कोरोना वायरस का क’हर पूरी दुनिया में देखने को मिल रहा है। इटली में इस खत’रनाक वायरस से सबसे ज्यादा तां’डव मचाया है। बुधवार तक यहां करीब सात हजार लोगों की जान इस महामा’री ने ले ली है। इसी बीच इटली के अस्पताल में काम करने वाली एक नर्स ने कोरोना का टेस्ट पॉजिटिव आने के बाद आत्मह’त्या कर ली। डेली मेल में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, 34 वर्षीय नर्स को जब पता चला कि उसे कोरोना है तो वो बेहद त’नाव में थी। उसे ड’र था कि कहीं उसकी वजह से दूसरे भी इस खतर’नाक वायरस से संक्र:मित नहीं हो जाएं। इसी वजह से उसने आत्मह’त्या कर ली।

कोरोना पॉजिटिव आने से परे’शान थी नर्स
34 वर्षीय डेनिएला ट्रेजी इटली में कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभा’वित लोम्बार्डी के एक अस्पताल में बतौर नर्स काम कर रही थीं। हाल ही में उन्होंने कोरोनो वायरस का टेस्ट कराया, जिसका रिजल्ट पॉजिटिव आया। इटली के नर्सिंग महासंघ ने बताया कि कोरोना पॉजिटिव आने के बाद ट्रेजी काफी परे’शान हो गई थीं। वो ‘द’र्द और निराशा’ में थीं। नर्सिंग महासंघ ने कहा कि नर्स बड़े तनाव में थी क्योंकि उसे इस बात डर था कि वह कोरोना संकट को नियंत्रण में लाने की कोशिश करते हुए खुद वायरस फैला रही है, इसी वजह से उसने आत्मह’त्या कर ली।कोरोना वायरस से बुधवार को इटली म’रने वालों की संख्या बढ़कर 6,820 हो गई। इटली के एक गांव वरतोवा में लगी एक तख्ती पर अमूमन अखबार टांगे जाते हैं लेकिन आज उस पर लिखे हुए शोक संदेश उस त्रासदी को बयान कर रहे हैं जिसे वहां के मेयर ने ‘युद्ध से भी अधिक बुरा’ बताया है। मेयर ऑर्लैंडो गुअलदी समेत अधिकतर इतालवी लोग कोरोना वायरस महामा’री से हुई तबा’ही की तुलना द्वितीय विश्व युद्ध से कर रहे हैं। हर शाम जब रोम में इटली में म’रने वालों की संख्या पढ़कर सुनाई जाती है तब सहसा विश्वास नहीं होता।