Breaking News

मुंगेर में ट्रेन-प्लेटफॉर्म के बीच फंस गया यात्री:ड्यूटी में तैनात 2 महिला सिपाहियों ने खींच कर निकाला बाहर, यात्री की बचाई जिंदगी

मुंगेर में भागलपुर-क्यूल रेलखंड के बीच जमालपुर जंक्शन पर शुक्रवार को एक यात्री की जान आरपीएफ की दो महिला सिपाही ने बचा ली। विनोद शर्मा चलती ट्रेन में चढ़ने के दौरान ट्रेन और प्लेटफॉर्म के बीच फंस गए। इस दौरान वहां मौजूद आरपीएफ की दो महिला सिपाहियों ने विनोद शर्मा को खींच लिया। इससे उनकी जिंदगी बच गई। वहां मौजूद सीसीटीवी में महिला सिपाहियों की बहादुरी कैद हो गई।

ट्रेन से उतर चाय पीने रहे थे

दरअसल, शुक्रवार की सुबह 9:27 बजे ट्रेन नंबर अप ब्रहमपुत्र मेल (15658 ) एक्सप्रेस दिल्ली जा रहे थे। ट्रेन जमालपुर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या 1 पर पहुंची। यहां उसी ट्रेन के एसी कोच से विनोद शर्मा नीचे उतर गए। फिर स्टेशन के स्टॉल से एक कप चाय खरीदकर पी रहे थे। फिर चाय बोगी की तरफ बढ़ने लगे। इस दौरान ही ट्रेन खुल गई।

एक हाथ में चाय का कप तो दूसरे हाथ के सहारे बोगी का हैंडल पकड़ लिया। इसके बाद चढ़ने की कोशिश करने लगा। इस दौरान ही पैर फिसल गया। फिर ट्रेन और प्लेटफॉर्म के बीच बने गैप में गिर गया।

महिला सिपाहियों ने दिखाई बहादुरी

वहीं, प्लेटफार्म संख्या एक पर ड्यूटी पर मुस्तैद दो आरपीएफ की जांबाज महिला सिपाही अंकिता और एसएल मीना ने बहादुरी दिखाई। अपनी जान की परवाह किए बगैर वहां पहुंचा। यात्री विनोद शर्मा को खींचकर प्लेटफार्म पर निकाल लिया। इससे उसकी जान जान बच गई।

पं. बंगाल के मालदा के रहने वाले विनोद शर्मा दिल्ली जा रहे थे। प्लेटफॉर्म पर गिरे यात्री को किसी प्रकार की कोई चोट नहीं आई है। इसके बाद उस यात्री को पीछे से आ रही दूसरी ट्रेन से दिल्ली भेज दिया गया।

यात्री विनोद शर्मा को पकड़ कर निकालते दोनों सिपाही।

यात्री विनोद शर्मा को पकड़ कर निकालते दोनों सिपाही।

क्या बोलीं दोनों महिला सिपाही

प्लेटफॉर्म पर मौजूद अन्य लोगों ने जाबाज व्यक्ति और महिला आरपीएफ कांस्टेबल की सराहना करते दिखे। दोनों जांबाज महिला कांस्टेबल ने बताया कि जमालपुर स्टेशन पर ऐसी पहली घटना नहीं है। स्टेशन पर ट्रेन पकड़ने की जल्दी और लापरवाही में लोग अपनी जान को ही जोखिम में डाल लेते हैं। आरपीएफ हमेशा यात्रियों की सुरक्षा के लिए तत्पर है । दोनों महिला पुलिस ने यात्रियों से अपील करते हुए कहा कि चलती ट्रेन में उतरना और चढ़ना चाहिए।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.