BIHARBreaking NewsSTATE

#MUZAFFARPUR : के के पाठक द्वारा प्रमंडल स्तरीय बैठक में मद्य निषेध विभाग के कार्यों की समीक्षा

MUZAFFARPUR : अपर मुख्य सचिव मद्ध निषेध ,निबंधन एवं उत्पाद विभाग श्री के के पाठक आज मुजफ्फरपुर पहुंचे।समाहरणालय सभाकक्ष में मद्य निषेध को लेकर प्रमंडल स्तरीय बैठक में उन्होंने जिला वार मद्ध निषेध की विस्तृत समीक्षा की। उक्त बैठक प्रमंडलीय आयुक्त श्री मिहिर कुमार सिंह की अध्यक्षता में आहूत की गई।

 बैठक में आईजी गणेश कुमार, जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर प्रणव कुमार, वरीय पुलिस अधीक्षक जयंत कांत, उप विकास आयुक्त मुजफ्फरपुर आशुतोष द्विवेदी, अपर समाहर्ता मुजफ्फरपुर राजेश कुमार सहित प्रमंडल के अन्य जिलों के जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, उत्पाद अधीक्षक, अनुमंडल पदाधिकारी, अपर अनुमंडल पदाधिकारी ,डीपीएम जीविका एवं अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

बैठक में अपर मुख्य सचिव ने प्रमंडल के सभी जिलों के जिलाधिकारियों ,पुलिस अधीक्षक, उत्पाद अधीक्षक एवं अन्य अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि  कि शराबबंदी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में है। इसलिए पूरी प्रतिबद्धता के साथ सतर्क होकर शराबबंदी कानून को प्रभावी ढंग से लागू करें। वर्तमान स्थिति में और भी गंभीरता तथा सख्ती से कार्य करने की जरूरत है ताकि शराब के अवैध व्यापार में शामिल तत्वों के मंसूबों को ध्वस्त किया जा सके। उनके द्वारा मुजफ्फरपुर शहरी क्षेत्र सहित प्रमंडल के अन्य शहरी क्षेत्रों में होम डिलीवरी के नेटवर्क को ध्वस्त करने का निर्देश दिया गया। कहा कि होम डिलीवरी न होने पाए इस बाबत प्रभावी कदम उठाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि होम डिलीवरी में किसी भी स्तर पर शामिल लोगों को बख्शा नहीं जाएगा। साथ ही कहा कि अवैध देशी शराब के निर्माण को रोकने के लिए लगातार /प्रभावी छापामारी/गश्ती करना सुनिश्चित किया जाए। इसमें किसी भी तरह की कोताही पर संबंधित पर जिम्मेदारी तय की जाएगी।

16 दिसंबर के बाद विभिन्न जिलों में की गई छापेमारी की विस्तृत समीक्षा करते हुए निर्देश दिया कि छापेमारी की संख्या में अपेक्षित वृद्धि करना सुनिश्चित किया जाए।। साथ ही कॉल सेंटर में  जिलों से संबंधित जो कंप्लेन एवं सूचनाएं प्राप्त होती हैं आधे घंटे के अंदर उस पर रिस्पांस लेना सुनिश्चित किया जाए। प्रत्येक सूचना को गंभीरता से लिया जाए।

 सभी जिले 24 घण्टे  रिवर पेट्रोलिंग करना सुनिश्चित करें। इसमें किसी भी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।अपर मुख्य सचिव ने बताया कि नदियों एवं नदियों के किनारे ड्रोन के माध्यम से भी पेट्रोलिंग की जाएगी।
बैठक में अपर मुख्य सचिव ने निर्देश दिया कि सभी जिलाधिकारी साप्ताहिक रूप से उत्पाद विभाग की समीक्षा करना सुनिश्चित करेंगे।उन्होंने उत्पाद विभाग के सभी पदाधिकारियों को विशेष तौर पर निर्देशित करते हुए हिदायत भी दी कि शराबबंदी कानून को सख्ती से लागू करने की दिशा में पूरी ईमानदारी और तत्परता के साथ अपने कर्तव्यों का निर्वहन करना सुनिश्चित करेंगे।

मुजफ्फरपुर जिले से संबंधित समीक्षा के क्रम में जिलाधिकारी ,वरीय पुलिस अधीक्षक और उत्पाद अधीक्षक के द्वारा बिंदुवार जानकारी अपर मुख्य सचिव महोदय को उपलब्ध कराई गई।नेपाल से सटे जिले को निर्देशित करते हुए विशेष निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि नेपाल से लगे बॉर्डर को हर हाल में सील करना सुनिश्चित किया जाए। एसएसबी के साथ मीटिंग करें एवं उनके साथ समन्वय स्थापित करते हुए इस दिशा में प्रभावी कार्य करना सुनिश्चित करें।

शराबबंदी कानून के तहत गिरफ्तार किए गए व्यक्तियों के ऊपर प्रभावी ढंग से कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया। शराबबंदी कानून के तहत जप्त वाहनों की नीलामी नियम पूर्वक तेजी से करने का निर्देश दिया गया। फरार अभियुक्तों की कुर्की जब्ती की जाए। साथ ही जब शराब का विनष्टीकरण की प्रक्रिया में और तेजी लाने का निर्देश दिया गया। आज की बैठक में अपर मुख्य सचिव के द्वारा सूचना तंत्र को और विकसित करने का निर्देश दिया गया। साथ ही जनमानस का सहयोग लेने का भी निर्देश दिया गया।
उन्होंने कहा कि जीविका के माध्यम से शराबबंदी के समर्थन में सकारात्मक माहौल बनाना सुनिश्चित करें। इसके लिए व्यापक प्रचार-प्रसार की भी आवश्यकता है।सतत जीविकोपार्जन योजना के तहत व्यक्तियों को रोजगार मुहैया कराने में दिए जाने वाली सहयोग राशि पर उन्होंने विस्तृत विचार विमर्श किया और निर्देशित किया कि सतत जीविकोपार्जन  योजना को प्रभावी ढंग से धरातल पर उतारना सुनिश्चित किया जाए ।इसके लिए फंड की कोई कमी नहीं है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.