BIHARBreaking NewsSTATE

मुजफ्फरपुर में MIT के छात्रों ने QRT जवानों को पी’टा, जानें मामला…

मुजफ्फरपुर में देर रात ब्रह्मपुरा थाना के पास MIT के छात्रों ने QRT के दो जवानों की पि’टाई कर दी। दोनों जख्मी हो गए। सूचना मिलने पर थाना से थानेदार अनिल गुप्ता के साथ पुलिस टीम पहुंची तो सभी छात्र भाग गए। दोनों जवानों को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। इसके बाद टाउन DSP रामनरेश पासवान भी पहुंचे। आसपास के लोगों से पूछताछ की। जानकारी मिली कि QRT के जवान SBI के ATM से रुपए निकाल रहे थे। इसी दौरान 6 MIT के छात्र जबरन ATM में घुसने लगे। इसका विरोध करने पर दोनों जवानों की जमकर पिटाई कर दी।

हालांकि, अबतक जवानों ने ब्रह्मपुरा थाने में इसका आवेदन नहीं दिया है। लेकिन, जवानों ने DSP को बताया कि एमआईटी कॉलेज के छात्रों ने एटीएम में घुसने से रोकने को लेकर मा’रपी’ट किया है। पुलिस ATM कक्ष में लगे CCTV कैमरे की फुटेज की जांच में जुट गई। टाउन DSP रामनरेश पासवान ने बताया कि- “QRT के दो जवान सिविल में थे। ब्रह्मपुरा थाना चौक स्थित एक बैंक के एटीएम से रुपये निकाल रहें थे। इस बीच करीब आधा दर्जन से अधिक MIT के छात्र वहां पहुंचे। ATM कक्ष में सभी घुसने लगे। इसका जवानों ने विरोध किया। कहा कि भीड़ के साथ क्यों घुस रहें हो। इसपर MIT के छात्रों ने दोनों से विवाद किया और फिर मारपीट की।”

सादे लिबास में थे दोनों जवान
इधर, स्थानीय दुकानदारों ने बताया कि दो जवान बाइक से पहुंचे। ATM कक्ष में रुपये निकालने में गए थे। बताया जाता है कि दोनों जवान सादे लिबास में थे। इस वजह से छात्र उनको पहचान नहीं सके और जमकर पिटाई कर दी। लोगों का कहना है कि जवानों ने पहले छात्रों पर हाथ छोड़ा। इसके बाद छात्र भी जवान से भिड़ गए और दोनों की पिटाई कर दी। इससे मौके पर स्थानीय भीड़ जुट गई। लोगों ने थाने में इसकी जानकारी दी। पुलिस के पहुंचने से पहले ही बिना रुपये निकाले छात्र वहां से भाग निकले।

पूर्व में भी कर चुके कई बार मारपीट
बता दें कि MIT के छात्र पूर्व में भी कई बार मारपीट कर चुके हैं। दो साल पहले लक्ष्मी चौक पर दुकानदारों की जमकर पिटाई की थी। इससे पहले पुलिस के जवानों से भी झड़प हुई थी। पुलिस सूत्रों की माने तो पुलिस छात्रों को चिह्नित कर ली है। हालांकि, मारपीट करने वाले छात्र घटना के बाद से कहीं छुपे हुए हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.