BIHARBreaking NewsSTATE

दूसरा डोज नहीं लेने वालों की तलाश, फेस्टिवल सीजन में सिंगल डोज वालों को खतरा

वैक्सीन की दोनों डोज नहीं लेने वालों से खतरा है। वह कोरोना से पूरी तरह से सुरक्षित नहीं हैं। फेस्टिवल सीजन में भीड़ में वह कितने सुरक्षित हैं, यह वीडियो जारी कर बताया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की तरफ से 3 वीडियो जारी किया गया है, जिसमें बताया जा रहा है कि एक डोज से कोरोना से कोई भी इंसान पूरी तरह से सुरक्षित नहीं है। एक अधूरा, दो से ही होगा पूरा, इसकी जानकारी दी जा रही है। ऐसे लोगों की तलाश में गांव से लेकर शहर तक सर्च भी चलाया जा रहा है। त्योहार में संक्रमण रोकने को लेकर वैक्सीनेशन पर पूरा जोर है।

फेस्टिवल में जांच के साथ वैक्सीनेशन

कोरोना संक्रमण को लेकर ही फेस्टिवल में वैक्सीनेशन और कोविड जांच को लेकर विशेष गाइडलाइन है। पटना में 10 जगह पंडाल में कोरोना की जांच के साथ वैक्सीनेशन भी किया जा रहा है। बिहार में 480 से अधिक स्थानों पर विशेष वैक्सीनेशन किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग का पूरा जोर अब दूसरी डोज को लेकर है। इसके लिए पूरी व्यवस्था बनाई जा रही है। पहली डोज लेने के बाद समय पूरा होने के बाद भी कई लोग दूसरा डोज लेने सेंटर पर नहीं आ रहे हैं। ऐसे में पूरा विभाग दूसरी डोज को लेकर जोर लगाए हैं।

एक अधूरा, बिना दो के नहीं हाेगा पूरा

स्वास्थ्य विभाग 3 वीडियो जारी कर लोगों को कोरोना का वैक्सीनेशन कराने के लिए मोटिवेट कर रहा है। बताया जा रहा है कि किस तरह से वैक्सीन की एक डोज इंसान पूरी तरह से सुरक्षित नहीं है। तीनों वीडियो त्योहार को लेकर है। स्वास्थ्य विभाग को भी त्योहार में ऐसे लोगों से कोरोना का खतरा है, जो वैक्सीन की दोनों डोज नहीं लिए हैं। त्योहार में लोगों की भीड़ और इधर उधर ट्रेवेल को लेकर विशेष रूप से तैयारी की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग ने राज्य के 38 जिलों को निर्देश दिया है कि ऐसे लोगों को सर्च किया जाए जो पहला डोज ले लिए हैं लेकिन समय पूरा होने के बाद भी दूसरा डोज नहीं लिए हैं।

पटना से लेकर पूरे राज्य में सर्च

पटना से लेकर पूरे राज्य में ऐसे लोगों की तलाश की जा रही है, जो समय पूरा होने के बाद भी वैक्सीन की दूसरी डोज नहीं लिए हैं। छठ पूजा तक अधिक से अधिक लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज को लेकर हर स्तर से प्रयास किया जाए। पटना में सर्वे को लेकर प्रशिक्षण भी पूरा हो चुका है। आशा को इस काम में लगाया गया है। इसके साथ ही राज्य के अन्य जिलों में भी अलग अलग तरीके से ऐसे लोगों की पड़ताल की जा रही है। हालांकि पटना में काफी चौकसी है और दो दिनों में ग्राफ बढ़ा है। 13 अक्टूबर को 10 हजार से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन किया गया है।

बिहार में वैक्सीनेशन की रफ्तार

बिहार में गुरुवार की शाम 3 बजे तक कुल 33,743 लोगों का वैक्सीनेशन किया गया है। अब तक कुल बिहार में 6,13,60,543 लोगों का वैक्सीनेशन हुआ है, जिसमें पहली डोज लेने वालों की संख्या 4,72,13,504 है। जबकि 1,41,47,039 लोगों ने दूसरी डोज लगवाई है। पटना में गुरुवार को 3 बजे तक 4,845 लोगों ने वैक्सीनेशन कराया है। अब तक कुल 53,15,857 लोगों का वैक्सीनेशन हुआ है, जिसमें पहली डोज लेने वालों की संख्या 33,22,221 है और 19,93,636 लोगों ने दूसरी डोज लगवा ली है। पटना में पूजा पंडालों पर वैक्सीनेशन में डाकबंगला और खाजपुरा में अब तक तीन दिन में 276 लोगों ने वैक्सीन कराया है। डाकबंगला पंडाल में कुल 94 लोगों ने और खाजपुरा में 182 लोगों ने वैक्सीनेशन कराया है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.