BIHARBreaking NewsSTATE

कोरोना संक्रमण से उबरने के महीने भर बाद गलने लगीं हड्डियां, मरीज को देख डॉक्टर भी हैरान

पुणे. कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण से उबरने के बाद भी इसका असर मरीजों का पीछा नहीं छोड़ रहा है. हाल ही में पुणे (Pune) में मिले कुछ नए मामलों ने जानकारों की चिंता बढ़ा दी है. ठीक हो चुके मरीजों में नया फंगल इंफेक्शन (Fungal Infection) देखा गया है, जो मरीज के रीढ़ की हड्डियों को गंभीर नुकसान पहुंचा रहा है. इससे पहले भी म्यूकरमाइकोसिस नाम का एक संक्रमण सामने आया था, जो कोविड से ठीक हो चुके मरीजों के लंग्स और साइनस को प्रभावित कर रहा था.

नए फंगल इंफेक्शन का मामला तब सामने आया, जब 66 वर्षीय एक मरीज ने कोविड से उबरने के एक महीने बाद हल्के बुखार और कमर में तेज दर्द की शिकायत की थी. शुरुआत में मरीज का इलाज दवाओं के जरिए किया गया, लेकिन बाद में जब MRI स्कैन किया गया, तो पता चला कि एक गंभीर संक्रमण spondylodiscitis का कारण बना. मेडिकल भाषा में Aspergillus Osteomyelitis कहे जा रहे इस फंगल इंफेक्शन का पता लगाना मुश्किल है, क्योंकि यह TB की तरह लगता है. ऐसा फंगल इंफेक्शन कोविड से उबर चुके मरीजों के मुंह में पाया जाता है और दुर्लभ मामलों में इसकी मौजूदगी फेफड़ों में भी होती है.

TOI की रिपोर्ट के मुताबिक, इन मामलों के बारे में मंगेशकर हॉस्पिटल में संक्रामक रोग विशेषज्ञ परीक्षित प्रयाग ने बताया कि अब तक Aspergillus Fungi के कारण हुए Vertebral Osteomyelitis को तीन महीनों में चार मरीजों में देखा गया है. भारत में कोविड से उबर चुके मरीजों में Vertebral Osteomyelitis नहीं दर्ज किया गया था.

सभी चारों मामलों में एक बात समान थी कि ये कोविड से गंभीर रूप से बीमार थे और कोविड के चलते हुए निमोनिया और संबंधित परेशानियों के लिए इन्हें स्टेरॉयड्स दिए गए थे. इससे पहले कोलकाता में कोविड को हराने वाले कई लोगों की आवाज प्रभावित होने के मामले भी देखे गए थे. देशभर में म्यूकरमाइकोसिस के भी कई मरीज मिले थे. यह तब हमला करता था, जब शरीर की इम्युनिटी कम हो या संवेदनशील हो. फंगस खुली चोटों के जरिए भी शरीर में पहुंच सकता है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.