BIHARBreaking NewsSTATE

मोतिहारी : अंतर्राष्ट्रीय वृद्ध दिवस पर बुजुर्गों की हुई स्वास्थ्य जांच

अंतर्राष्ट्रीय वृद्ध दिवस पर बुजुर्गों की हुई स्वास्थ्य जांच

-1 से 7 अक्टूबर तक मनाया जाएगा बुजुर्ग सप्ताह
-जिले के सरकारी अस्पतालों में रहेगी  इलाज की व्यवस्था

मोतिहारी, 01 अक्टूबर। सदर अस्पताल मोतिहारी के एनसीडी सेल में शुक्रवार को अंतर्राष्ट्रीय  वृद्ध दिवस  का आयोजन किया गया। इस अवसर पर सिविल सर्जन डॉ अंजनी कुमार ने बताया कि 1  से 7 अक्टूबर तक अंतर्राष्ट्रीय  वृद्ध सप्ताह जिले के सरकारी अस्पतालों में मनाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि वृद्धावस्था में शरीर कमजोर होने के कारण कई प्रकार की बीमारियों का शिकार हो जाता है। ऐसे में परिवार के मुख्य सदस्यों को बुजुर्ग सदस्यों की अच्छे ढंग से देखभाल  करनी चाहिए।  शरीर में सामान्यतःमधुमेह, उच्च  रक्तचाप, गठिया, मनोभ्रंश, याददास्त में कमजोरी, हृदय रोग, आंख से कम दिखाई पड़ना,कान से कम सुनाई पड़ना जैसे रोगों से ग्रसित होने की संभावना बुढ़ापा में बढ़ जाती है।

ऐसे में वृद्ध लोगों की सुरक्षा व जाँच के लिए 1 अक्टूबर को अंतर्राष्ट्रीय  वृद्ध दिवस मनाया जाता है। इस अवसर पर जिले के सभी सरकारी अस्पतालों में वृद्धों को निःशुल्क स्वास्थ्य जांच व परामर्श की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। उन्होंने बताया कि जिले के सभी अनुमंडल व रेफरल अस्पताल, सामुदायिक-प्राथमिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के साथ-साथ सदर अस्पताल में भी वृद्धों को आवश्यक स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करायी  जाएंगी।


सदर अस्पताल में वृद्धजनों के लिए अलग से स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराई गई
वहीं सदर अस्पताल के गैर संचारी रोग पदाधिकारी डॉ पी के सिन्हा ने बताया कि आज अंतर्राष्ट्रीय वृद्ध दिवस के मौके पर मोतिहारी सदर अस्पताल में वृद्धजनों के लिए अलग से स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराई गई हैं। जिसमे 2 बजे तक मधुमेह, उच्य रक्तचाप, गठिया, हृदय आदि रोगों से ग्रसित लगभग 25 लोगों की स्वास्थ्य जाँच की गई। उन्होंने बताया कि वृद्ध नागरिकों को समय समय पर आँख, नाक, कान, मधुमेह, उच्च  रक्तचाप,  गठिया, हृदय,  आदि की जाँच करानी चाहिए ताकि वे लोग बीमारी के कारण होने वाले खतरों से बच सकें। उन्होंने बताया कि सभी लोगों को मानसिक तनाव से बचना चाहिए, सुगर, बीपी जैसी बीमारियों की दवाओँ का नियमित सेवन करना चाहिए। सुबह शाम हल्का व्ययाम, योग, करते रहना चाहिए, टहलना चाहिए इससे शरीर में  अनेक रोगों से लड़ने की क्षमता का विकास होता है। डॉ पीके सिन्हा ने कहा कि सभी लोगों को सन्तुलित आहार, मौसमी फलों, ताजे, हरी सब्जियों का सेवन करना चाहिए। अच्छे ढंग से पूरी नींद लेनी  चाहिए । किसी तरह की  व्यर्थ चिंता, असन्तुलित खानपान से बचना चाहिए। मौके पर डॉ पीके सिन्हा, साइकोलॉजिस्ट,उत्कर्ष उज्ज्वल,चांदसी कुमार, मधु कुमारी सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मी उपस्थित थे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.