BIHARBreaking NewsSTATE

मुजफ्फरपुर DM प्रणव कुमार की अध्यक्षता में जिला स्तरीय समन्वय समिति/पोषण समिति की हुई बैठक

समाहरणालय मुजफ्फरपुर

दिनांक 14 सितंबर 2021

राष्ट्रीय पोषण अभियान के तहत आज समाहरणालय सभाकक्ष में जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर प्रणव कुमार की अध्यक्षता में जिला स्तरीय समन्वय समिति/पोषण समिति की बैठक आहूत की गई।

बैठक में जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य, शिक्षा, आइसीडीएस, कृषि सहित अन्य सभी विभागों के साथ आपसी समन्वय स्थापित कर पोषण की दिशा में प्रचार-प्रसार कर ग्रामीण स्तर तक लोगों को जागरूक करने का निदेश दिया। जिलाधिकारी ने कहा कि जागरूकता के माध्यम से लोगों के बीच पोषण की जानकारी देकर कुपोषण को दूर किया जाएगा।

उन्होंने आंगनबाड़ी केंद्रों पर आयोजित कार्यक्रमों में ऊपरी आहार, अन्नप्राशन कार्यक्रम, गोदभराई कार्यक्रम के दौरान छोटे बच्चों एवं गर्भवती तथा धात्री माताओं को पोषण की जानकारी देने का निदेश दिया। उन्होंने विभिन्न विभागों के पदाधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि प्रखंड एवं पंचायत स्तर पर विशेषकर आंगनवाड़ी केंद्र स्तर पर समुदाय आधारित गतिविधियों का आयोजन की जाए, जिसके माध्यम से पोषण के बारे में जानकारी साझा की जा सके। आईसीडीएस को निर्देशित करते हुए उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय पोषण माह के दौरान हर घर तक सही पोषण का संदेश आंगनवाड़ी सेविका/ सहायिका के माध्यम से पहुंचाना सुनिश्चित करें।साथ ही पोषण अभियान को एक जनांदोलन का रूप दें।

उन्होंने स्वास्थ विभाग, शिक्षा विभाग, कृषि विभाग ,जीविका के साथ आगा खान ,केयर, प्लान इंडिया ,पीरामल फाउंडेशन के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा कि आपसी समन्वय के साथ कार्य करते हुए अपने दायित्वों के निर्वहन में पूरी गंभीरता बरतें। पोषण के प्रति अभियान को समाज के निचले स्तर तक ले जाएं ,लोगों को जागरूक करें और ऐसा करके ही कुपोषण की चुनौतियों का सामना करने में हम सक्षम हो सकते हैं।

बैठक मे जिला समन्वयक, राष्ट्रीय पोषण मिशन सुषमा सुमन ने पोषण माह के तहत 30 सितंबर तक आयोजित होने वाले सभी कार्यक्रमों की विस्तारपूर्वक जानकारी पीपीटी के माध्यम से दी। विशेषकर पोषण रैली ,पोषण परामर्श केंद्र की स्थापना, जिला एवं प्रखंड स्तर पर पोषण संबंधित संदेशों का प्रचार -प्रसार, पोषण वाटिका के स्थापना , गर्भवती महिलाओं के पोषण युक्त आहार लेने हेतु स्लोगन लेखन प्रतियोगिता ,उत्कृष्ट पोषण वाटिका प्रतियोगिता के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी दी गई। वही डीपीओ आईसीडीएस चांदनी सिंह ने कहा कि पोषण माह के दरमियान आईसीडीएस एवं विभिन्न विभागों के द्वारा अपने- अपने स्तर से लोगों को जागरूक किया जा रहा है साथ ही आगे आने वाले दिनों में विभिन्न माध्यमों से लोगों के बीच पोषण को लेकर जागरूकता का अलख जगाया जाएगा।उन्होंने सभी कार्यक्रमों से संबंधित विभागों के पदाधिकारियों से सहयोग करने की अपील भी की।

बैठक में उप विकास आयुक्त आशुतोष द्विवेदी ,सहायक समाहर्ता श्रेष्ठ अनुपम ,सिविल सर्जन डॉ०विनय कुमार शर्मा, एसीएमओ, जिला जन-संपर्क पदाधिकारी कमल सिंह ,जिला योजना पदाधिकारी बबन कुमार ,जिला कृषि पदाधिकारी शिलाजीत सिंह सभी प्रखंडों के े बाल विकास परियोजना पदाधिकारी ,विभिन्न विभागों के अन्य पदाधिकारी एवं केयर इंडिया, पीरामल फाउंडेशन ,नीति आयोग, प्लान इंडिया ,आगा खान के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे। बैठक के अंत में सभी उपस्थित पदाधिकारियों ने को जिलाधिकारी द्वारा पोषण से संबंधित इस आशय की शपथ दिलाई गई कि इसे लेकर सभी पदाधिकारी /कर्मी पूरी निष्ठा के साथ समाज के उत्थान के लिए अपने कर्तव्यों का निर्वहन करेंगे

जिला स्तरीय पोषण परामर्श केंद्र का हुआ शुभारंभ

समाहरणालय सभा कक्ष के बाहर गैलरी में जिलाधिकारी प्रणव कुमार ,उप विकास आयुक्त आशुतोष द्विवेदी सहायक समाहर्ता श्रेष्ठ अनुपम,डीपीओ चांदनी सिंह ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर जिला स्तरीय पोषण परामर्श केंद्र का उद्घाटन किया। इस मौके पर जिलाधिकारी ने कहा कि कुपोषण के मामले में समाज में बड़ी कमी आई है जो सुखद है। बावजूद इसके अभी भी इस क्षेत्र में कुपोषण एक चुनौती के रूप में हमारे सामने खड़ा है। उन्होंने कहा कि यदि कुपोषित बच्चे मिलते हैं तो उसका समुचित प्रबंधन हो ताकि कुपोषण से उनका बचाव किया जा सके। यही बातें गर्भवती महिलाओं के लिए भी है। उन्होंने कहा कि अगर कोई परामर्श लेने आए तो उन्हें उचित मार्गदर्शन करें ताकि इसे धरातलीय स्वरूप दिया जा सके और कुपोषण से बच्चे मुक्त हो सके।आईसीडीएस के द्वारा बताया गया अगले दिन से उक्त केंद्र आईसीडीएस कार्यालय में संचालित किया जाएगा। मौके पर जिला जनसंपर्क पदाधिकारी कमल सिंह, जिला समन्वयक राष्ट्रीय पोषण मिशन, सुषमा सुमन के अलावे अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.