BIHARBreaking NewsMUZAFFARPURSTATE

तेज प्रताप यादव एसकेएमसीएच में थे और अधीक्षक कह रहे थे.. Go Out side the Building

पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव (lalu prasad yadav)के बड़े पुत्र तेजप्रताप यादव अक्सर सुर्खियों में रहते हैं, लेकिन अभी कुछ अधिक ही चर्चाएं हो रही हैं। वे विभिन्न अस्पतालों में जाकर वहां की व्यवस्थाएं देख रहे हैं। कमियों को उजागर कर रहे हैं और इस दौरान कुछ न कुछ ऐसा हो जा रहा है जिससे वे इंटरनेट मीडिया के प्रिंस बन जा रहे हैं। ताजा मामला मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) के एसकेएमसीएच (SKMCH) से जुड़ा है। जहां वे बुधवार को निरीक्षण करने गए थे। इस बार उनके बयान या काम की वजह से नहीं वरन एसकेएमसीएच अधीक्षक की घोषणा के वजह से वे सुर्खियों में आ गए हैं। वैसे देखा जाए तो अभी लालू प्रसाद यादव का पूरा परिवार ही चर्चा के केंद्र में है। महारानी (maharani) वेब सीरीज के आने के बाद राबड़ी देवी (rabri devi)अचानक सुर्खियों में आ गईं। इसके बाद रोहिणी आचार्य (rohini acharya) की प्रतिक्रिया सामने आई। तेजस्वी (Tejaswi Yadav) और लालू ट्विटर पर अधिक सक्रिय हैं

दरअसल, पूर्व स्वास्थ्य मंत्री व समस्तीपुर के हसनपुर से विधायक तेजप्रताप यादव (tej pratap yadav) के एसकेएमसीएच पहुंचने की सूचना स्थानीय राजद कार्यकर्ताओं को पहले ही मिल गई। जिसके बाद काफी संख्या में समर्थक वहां जुट गए। जब तेज प्रताप अस्पताल के अंदर दाखिल हुए तो उनके साथ सैकड़ों समर्थक भी घुस गए। जबकि एसकेएमसीएच का कोविड वार्ड अभी चल ही रहा है। वहां हमेशा संक्रमण की आशंका बनी रहती है। इस स्थिति को देखते हुए अस्पताल प्रशासन ने समर्थकों को बाहर जाने के लिए कहा, लेकिन कर्मचारियों की बात किसी ने भी नहीं सुनी। स्थिति को बेकाबू होता देख अस्पताल अधीक्षक खुद अपने कक्ष से बाहर आए और उन्होंने राजद समर्थकों को कोरोना प्रोटोकॉल व मरीजों के जीवन का हवाला देते हुए अस्पताल की बिल्डिंग से बाहर निकल जाने का आग्रह किया। उन्होंने खुद माइक थामते हुए Go Out side the Building कहा। उस समय तक तेज प्रताप अस्पताल के अंदर दाखिल हो चुके थे और मरीजों से इलाज के बारे में जानकारी हासिल कर रहे थे। इस बारे में अस्पताल अधीक्षक ने कहा, मुझे केवल तेज प्रताप के आने की जानकारी दी गई थी, कोई अनुमति नहीं ली गई थी। अस्पताल के अंदर भीड़ का इस तरह से आना गलत है। इसलिए लोगों से मैंने बाहर जाने का आग्रह किया था। इसकी शिकायत किए जाने के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि मैंने अभी इसके बारे में कुछ नहीं सोचा। अब देखने वाली बात है कि क्या तेजप्रताप के इस निरीक्षण की शिकायत दर्ज कराई जाएगी। क्योंकि इसी तरह के एक मामले में जाप सुप्रीमो पप्पू यादव के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई थी। इसके बाद खूब हंगामा हुआ था।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.