BIHARBreaking NewsMUZAFFARPURSTATE

ब्रेकिंग : गायघाट में RJD नेता सह आपदा प्रबंधन के प्रदेश उपाध्यक्ष सह मुखिया पति के निध’न से कार्यकताओं मे शो’क की लहर, RJD विधायक समेत कई लोगों ने जताया शो’क

Repoted by Deepak

गायघाट। राजद के वरिष्ठ नेता सह आपदा प्रबंधन के प्रदेश उपाध्यक्ष सह केवटसा पंचायत के मुखिया पति शैलेन्द्र सिंह उर्फ नुकुल सिंह का निधन दरभंगा के पारस अस्पताल में हो गया। इनके निधन पर शो’क की लहर दौड़ गई। गायघाट के प्रखंड प्रमुख श्रवण कुमार सिंह ने शोक प्रकट करते हुए कहा कि उनका जाना गायघाट की राजनीति में एक युग का अवसान है।प्रखंड के केवटसा के रहने वाले राजद नेता सह मुखिया पति शैलेन्द्र सिंह उर्फ नुकुल सिंह के नि’धन की खबर के बाद प्रखंड के सियासी हलकों में शो’क की लहर उमड़ गई है। सभी राजनीतिक दलों के नेताओं ने सिंह के निधन पर शो’क प्रकट किया है। ईश्वर उन्हें अपने श्री चरणों में जगह तथा उनके शोक संतप्त परिजनों एवं समर्थकों को इस अपार दु:ख को सहने की शक्ति प्रदान करें।इधर, मुखिया संघ के अध्यक्ष अजय कुमार सिंह उर्फ गुड्डू ने राजद नेता सह आपदा प्रबंधन के प्रदेश उपाध्यक्ष सह केवटसा पंचायत के मुखिया पति शैलेन्द्र सिंह उर्फ नुकुल सिंह के असामयिक निधन पर शोक संवेदना प्रकट करते हुए कहा नुकुल बाबू के निधन की सूचना अत्यंत दु:खद है। वे कुछ समय से बीमार चल रहे थे। नुकुल बाबू का पूरा जीवन सादगी व सरलता के साथ जनता के बीच गुजरा है। उनके नि’धन से बिहार के राजनीतिक पटल पर एक शून्य पैदा हुआ है. दिवं’गत आत्मा की शांति की प्रार्थना करता हूं। श्रद्घांजलि।गायघाट के पूर्व विधायक महेश्वर प्रसाद यादव ने सिंह के निधन पर शोक प्रकट करते हुए कहा कि उनके निधन से पूरा परिवार दुखी एवं मर्माहत है. उन्होंने अपने शो’क संदेष में कहा, “वे हमसब को छोड़ कर चले गये हैं, नुकुल बाबू का व्यक्तित्व विशाल था. वे राजद के स्तंभ थे।

गायघाट के राजद विधायक निरंजन राय भी राजद के नेता सह आपदा प्रबंधन के प्रदेश उपाध्यक्ष सह मुखिया पति शैलेन्द्र सिंह उर्फ नुकुल के नि’धन पर शो’क प्रकट किया है. उन्होंने कहा,राजद नेता नुकुल सिंह जी के निधन से राजनीतिक एवं सामाजिक जगत को अपूरणीय क्षति हुई है. ईश्वर दिवंगत आ’त्मा को शांति एवं परिवार, शुभचिंतको को मजबूती प्रदान करे.”

एक खास किस्म की जो राजनीति है उस राजनीति की अंतिम कड़ी के रूप में नुकुल बाबू जाने जाएंगे. उनके अंदर सच को सच कहने का जो अदम्य साहस था.”

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.