Breaking NewsNational

PM Modi-CM Meeting: वैक्सीन राजनीति पर बोले पीएम- मुंह नहीं खोलूंगा, कोरोना रोकने के लिए दिए ये मंत्र

  • मुख्यमंत्रियों के साथ देश में कोरोना संक्रमण की वर्तमान स्थिति की समीक्षा करने के बाद अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि आज की समीक्षा में कुछ बातें स्पष्ट हैं जिन पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है. उन्होंने कहा, ‘पिछले साल कोरोना की जो सर्वोच्च रफ्तार थी उसे हम इस बार पार कर चुके हैं. इस बार मामलों की वृद्धि दर पहले से भी ज्यादा तेज है. महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, पंजाब, मध्य प्रदेश और गुजरात समेत कई राज्य पहली लहर की ‘पीक’ को भी पार कर चुके हैं. कुछ और राज्य भी इस ओर बढ़ रहे हैं. हम सबके लिए ये चिंता का विषय है. ये एक गंभीर चिंता का विषय है.’
  • 20:46(IST)प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वैक्सीनेशन के साथ साथ हमें ये भी ध्यान रखना है कि वैक्सीन लगवाने के बाद की लापरवाही न बढ़े. हमें लोगों को ये बार-बार बताना होगा कि वैक्सीन लगने के बाद भी मास्क और सावधानी जरूरी है.
  • 20:46(IST)पीएम मोदी ने कहा कि हमने कोरोना की लड़ाई जीती थी, बिना वैक्सीन के. ये भी भरोसा भी नहीं था कि वैक्सीन आएगी या नहीं. आज हमें भयभीत होने की जरूरत नहीं है. हम जिस तरह से लड़ाई को लड़े थे, उसी तरह से फिर से लड़ाई जीत सकते हैं.
  • 20:44(IST)प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 11 से 14 अप्रैल तक सभी लोग टीका उत्‍सव मनाएं. कोविड-19 का एक बड़ा हिस्सा वैक्सीन मैनेजमेंट वेस्टेज को रोकना भी है. सभी लोगों को वैक्‍सीन लगाने का प्रयास किया जाए.
  • 20:37(IST)महामारी पर राजनीति मैं पहले दिन से ही देख रहा हूं, देश के लोगों की सेवा करना हमारी जिम्मेदारी है, मैं इसपर मुंह नहीं खोलना चाहता हूं. जो राजनीति कर रहे हैं वे कर ही रहे हैं, हमें इसपर कुछ कहना नहीं है. सभी सीएम अपने राज्य की स्थिति को बदलने को लेकर सामने आएंगे: पीएम मोदी
  • 20:35(IST)पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए फिर से युद्ध स्तर पर काम करना जरूरी है. तमाम चुनौतियों के बाद भी हमारे पास पहले की अपेक्षा बेहतर अनुभव और संसाधन हैं और वैक्सीन भी हमारे पास है.
  • 20:34(IST)पीएम मोदी ने कहा कि आज हम जितनी ज्यादा वैक्‍सीनेशन करते हैं, इससे ज्यादा हमें टेस्टिंग पर बल देने की जरूरत है. टेस्टिंग और ट्रेकिंग की बहुत बड़ी भूमिका है. टेस्टिंग को हमें हल्के में नहीं लेना होगा.
  • 20:32(IST)पीएम मोदी ने कहा कि कोविड मैनेजमेंट का एक बहुत बड़ा पार्ट वैक्‍सीन वेस्‍टेज को रोकना भी है. वैक्‍सीन को लेकर राज्य सरकारों की सलाह, सुझाव और सहमति से सही देशव्यापी रणनीति बनी है.
  • 20:30(IST)कोरोना पर मुख्‍यमंत्रियों संग चर्चा के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अभी संपूर्ण लॉकडाउन की जरूरत नहीं, फिलहाल नाइट कर्फ्यू ही काफी है. 
  • 20:27(IST)भारत ने कोविड-19 महामारी की पहली लहर की चरम सीमा को पार कर लिया है; कुछ राज्यों में स्थिति बहुत गंभीर है: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

नई दिल्‍ली. देश में तेजी से बढ़ते कोरोना के ताजा मामलों पर चिंता जताते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए फिर से युद्ध स्तर पर काम करना आवश्यक है. प्रधानमंत्री ने राज्यों से निषिद्ध क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करने और जांच में तेजी लाने को कहा. मुख्यमंत्रियों के साथ देश में कोरोना संक्रमण की वर्तमान स्थिति की समीक्षा करने के बाद अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि आज की समीक्षा में कुछ बातें स्पष्ट हैं जिन पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है.

पीएम मोदी ने कहा, ‘पिछले साल कोरोना की जो सर्वोच्च रफ्तार थी उसे हम इस बार पार कर चुके हैं. इस बार मामलों की वृद्धि दर पहले से भी ज्यादा तेज है. महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, पंजाब, मध्य प्रदेश और गुजरात समेत कई राज्य पहली लहर की ‘पीक’ को भी पार कर चुके हैं. कुछ और राज्य भी इस ओर बढ़ रहे हैं. हम सबके लिए ये चिंता का विषय है. ये एक गंभीर चिंता का विषय है.’ प्रधानमंत्री ने कहा कि इस बार लोग पहले की अपेक्षा बहुत अधिक लापरवाह हो गए हैं और अधिकतर राज्यों में प्रशासन भी सुस्त नजर आ रहा है. उन्होंने कहा, ‘ऐसे में कोरोना मामलों की इस अचानक बढ़ोतरी ने मुश्किलें पैदा की हैं. इसके प्रसार को रोकने के लिए फिर से युद्ध स्तर पर काम करना आवश्यक है.’

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.