Breaking NewsNational

मौसम विभाग ने हीट वेव को लेकर किया अ’लर्ट, बाहर निकलने से पहले बरतें सावधानी

पटना. बिहार में अप्रैल की शुरुआत होते ही अधिकतम तापमान में वृद्धि होने लगी है. हालात ऐसे बन गए हैं कि दिन में घरों से निकलना मुश्किल हो गया है. अधिकतम और न्यूनतम तापमान में दोगुना से ज्यादा का अंतर हो गया है और पिछले 5 दिनों से अधिकतम तापमान सामान्य से 4 डिग्री ऊपर रह रहा है. इसी वजह से मौसम विभाग ने बिहार में हीट वेव (Heat Wave In Bihar) को लेकर अलर्ट जारी कर दिया है. मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो तापमान (Bihar Weather Update) में तेजी से वृद्धि हो रही है, ऐसे में लू का खतरा बढ़ता जा रहा है.

अप्रैल के पहले सप्ताह में ही इस भीषण गर्मी को देखकर मौसम विभाग का अनुमान है कि आने वाले समय मे गर्मी कई साल का रिकॉर्ड तोड़ सकता है. राजधानी पटना के अलावे भागलपुर, पूर्णिया, गया, मुजफ्फरपुर में भी तापमान परवान पर है. अप्रैल में ही धूप जेठ की दोपहर की याद दिला रही है. कड़ी धूप की वजह से अगलगी की घटनाएं भी बढ़ गई हैं, ऐसे में अग्निशमन विभाग भी अलर्ट पर है.

बिहार अग्निशमन सेवा अभी से ही आग के खतरों से निपटने की तैयारी में जुट गया है. इसको लेकर जागरुकता कार्यक्रम, फायर ऑडिट, वाटर सोर्स मैपिंग, नए जल स्रोतों को चिह्नित करना, फायर फाइटिंग के लिए उपकरणों की खरीद आदि की जा रही है. साथ ही सार्वजनिक स्थलों पर विशेष अलर्ट जारी किया गया है.

मानव संसाधन प्रबंधन की ओर से 550 अतिरिक्त गृह रक्षकों को जिलों में लगाया जा रहा है. इनमें 150 गृहरक्षक विशेष बटालियन के भी शामिल किए गए हैं. अग्निशमन सेवा से सेवानिवृत्त अनुभवी ट्रेनरों से प्रशिक्षण का काम भी कराया जा रहा है, क्योंकि पूरे सूबे में हर दिन अगलगी की घटनाओं की अधिकारी समीक्षा कर रहे हैं. जिला स्तर पर सभी अग्निशमन कर्मियों का मॉक ड्रील कराया जा रहा है और राज्य के सभी जिलों में अग्निशमन के लिए SOP तैयार किया गया है.

अग्निशमन विभाग के अधिकारियों की मानें तो 19 बड़े अग्निशमन वाहनों की खरीद की जा रही है और अग्निशमन कर्मियों के लिए 500 फायर मैन बूट की भी खरीदारी होगी. फायर फाइटिंग के लिए 40 फ्लोटिंग पंप और 30 स्मॉक एक्जोस्टर लिया जाएगा. राज्य अग्निशमन नियंत्रण कक्ष का सुदृढ़ीकरण नियंत्रण कक्ष में अब 10 कर्मियों एवं 08 टेलीफोन/मोबाइल लाइन की सुविधा दी गई है. जिला स्तर पर भी नियंत्रण कक्षों को मजबूत किया गया है. डायल 101 को और एक्टिव किया जा रहा है.

अग्निशमन वाहनों और चालकों की व्यवस्था पुलिस उप महानिरीक्षक की अध्यक्षता में वाहनों की मरम्मत और मॉनिटरिंग के लिए समिति बना दी गई है. कुल 702 वाहन ऑन रोड रखे गए हैं. हर वाहन पर चालकों एव रिजर्व चालकों की व्यवस्था की गई है, ऐसे में सरकार की तरफ से व्यवस्था मुकम्मल की तैयारी चल रही है, लेकिन आमलोगों को भी सतर्कता बरतनी होगी ताकि जानमाल का नुकसान नहीं हो सके.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.