BIHARBreaking NewsDARBHANGASTATE

अब दरभंगा से रांची के लिए सीधी उड़ान!

दरभंगा एयरपोर्ट (Darbhanga Airport) से विमान सेवा आरंभ होने के बाद बहुत तेजी से उपलब्धियां इससे जुड़ती चली जा रही हैं। यहां से पड़ोसी राज्य झारखंड (Jharkhand)की राजधानी रांची (Ranchi)के लिए सीधी उड़ान का शुरू होना एक और उपलब्धि है। इसकी प्रक्रिया अंतिम चरण में बताई जा रही है।

महत्वपूर्ण रूटों पर स्पाइसजेट का कब्जा

दरअसल, केंद्र की उड़ान योजना (UDAN Scheme)के अंतर्गत 08 नवंबर 2020 को दरभंगा से विमान सेवा की शुरुआत हुई। पहले तीन शहरों को जोड़ा गया। कुछ ही दिनों के अंदर यात्रियों का अपेक्षा से अधिक प्यार मिलने के कारण सेवा प्रदाता कंपनी स्पाइसजेट (Spicejet)ने एक के बाद एक नए शहरों को यहां से जोड़ना शुरू किया। इसी बीच इंडिगो (Indigo)और एयर इंडिया के दरभंगा आने की आहट पाते ही सभी महत्वपूर्ण रूटों पर स्पाइसजेट से कब्जा करना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरु के बाद अहमदाबाद, पुणे, हैदराबाद व कोलकाता को जोड़ा गया। अब रांची को जोड़ा जा रहा है। वैसे तो पूरे झारखंड लेकिन, रांची में मिथिलांचल के लोग काफी तादाद में रहते हैं। यदि हम पूरे उत्तर बिहार की बात कर लें ताे यह संख्या और बड़ी हो जाती है। इस स्थिति में रांची रूट पर यात्रियों की संख्या काफी अधिक होने की उम्मीद है।

दरभंगा सांसद की ओर से पहल

अभी रांची के बिरसा मुंडा एयरपोर्ट (Birsa Munda Airport, Ranchi)के रनवे की रिकारपेटिंग का काम चल रहा है। विगत 28 मार्च से तीसरी लेयर की रिकारपेटिंग का काम शुरू किया गया है। इसके 27 अप्रैल तक पूरा हो जाने की उम्मीद है। इसके बाद रांची से कई नए शहरों के लिए विमान सेवा शुरू होने जा रही है। दरभंगा उनमें से एक है। यूं तो दरभंगा से विमान सेवा शुरू होने के साथ ही कोलकाता और रांची को जोड़ने की मांग की जा रही थी। अब कोलकाता यहां से जुड़ गया है तो इसके बाद रांची को जोड़ने की तैयारी है। इसके लिए दरभंगा के सांसद गोपालजी ठाकुर (Darbhanga MP Gopalji Thakur)लगातार अपनी सक्रियता दिखा रहे हैं। इस बाबत में हाल में उन्होंने एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (Airport Authority of India)के अधिकारियों से बात की थी। इसके बाद इस दिशा में सक्रियता बढ़ी है। आधिकारिक घोषणा होने के बाद ही यह स्पष्ट होगा कि इस रूट पर कौन सी कंपनी उड़ान आरंभ करने जा रही है। संभावना स्पाइसजेट के पक्ष में अधिक है।  

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.