Breaking News

Good News: इन राज्यों ने दी बड़ी राहत! 5रुपए/लीटर से ज्यादा सस्ता हुआ पेट्रोल, जानें आपका शहर है या नहीं?

नई दिल्ली. देशभर में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों (Petrol Diesel Price Hike)ने आम जन को परेशान कर दिया है. कई राज्यों में तो पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर तक बिक रहा है. बढ़ती कीमतों पर विपक्ष लगातार केन्द्र को टारगेट कर रहा है. तेल के दाम रिकॉर्ड स्तरों पर पहुंचने के बाद केंद्र सरकार एक्साइज ड्यूटी घटाने को लेकर दबाव में है. वहीं, देश के 4 राज्यों ने टैक्स में कटौती करके ग्राहकों को राहत दी है. हालांकि, इनमें से कुछ राज्यों में आने वाले दिनों में चुनाव भी हैं. यही वजह है कि चुनाव के पहले ये राज्य जनता को नाराज नहीं करना चाहते.

इन राज्यों ने कम किया पेट्रोल-डीजल पर टैक्स

पश्चिम बंगाल, राजस्थान, असम और मेघालय में पेट्रोल-डीजल के रेट कम हुए हैं. सबसे पहले राजस्थान ने 29 जनवरी को पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले VAT 38 प्रतिशत से घटाकर 36 प्रतिशत तक कर दिया था. पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले VAT में एक रुपये प्रति लीटर की कटौती करने का ऐलान किया है. बता दें कि यहां अप्रैल में विधानसभा चुनाव होने हैं. 12 फरवरी को असम की राज्य सरकार ने भी पिछले साल कोरोना संकट के दौरान लगाए जाने वाले 5 रुपये एडिश्नल टैक्स को हटा लिया. असम में भी चुनाव होने वाले हैं. वहीं, अगर पूर्वोत्तर राज्य मेघालय की बात की जाय तो यहां राज्य सरकार ने ग्राहकों को सबसे बड़ी देते हुए पेट्रोल पर 7.40 और डीजल पर 7.10 रुपये घटाने का फैसला किया है. इसमें पहले 2 रुपये प्रति लीटर की कटौती की गई, इसके बाद पेट्रोल पर वैट भी 31.62% से घटाकर 20% और डीजल पर 22.95% से घटाकर 12% कर दिया गया है. बता दें कि कोविड-19 महामारी (Coronavirus Pandemic) के मद्देनजर पिछले साल यह अतिरिक्त टैक्स लगाया गया था.

बढ़ती कीमतों पर क्या कहना है केन्द्र सरकार का?

केंद्र सरकार ने एक्साइड ड्यूटी में किसी भी तरह की कटौती करने से मना कर दिया है. केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने ईंधन की कीमतें बढ़ने की वजह अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के उत्पादन में कटौती को बताया है. रविवार को केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान (Dharmendra Pradhan) ने ईंधन की कीमतें बढ़ने की वजह अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के उत्पादन में कटौती को बताया है. धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि ईंधन की कीमतें बढ़ने की दो मुख्य वजहें हैं. अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल (Crude Oil) का उत्पादन कम किया गया है. उत्पादक देश अपना मुनाफा बढ़ाने के लिए तेल के उत्पादन को कम कर रहे हैं. इसलिए कच्चा तेल खरीदने वाले देशों के लिए यह महंगा पड़ रहा है. इससे पहले शनिवार कोवित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने कहा था कि तेल की बढ़ती कीमतों ने सरकार के समक्ष धर्मसंकट खड़ा कर दिया है. उन्होंने कहा कि तेल की खुदरा कीमतों को जायज स्तर तक लाने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों को मिलकर कोई व्यवस्था बनानी होगी.

जानिए आज आपके शहर में क्या हैं रेट?
पेट्रोल-डीज़ल का भाव सोमवार को स्थिर रहा है. तेल कंपनियों ने लगातार दूसरे दिन भी पेट्रोल-डीज़ल के भाव में कोई बदलाव नहीं करने का फैसला लिया है. इसके पहले लगातार 12 दिन तक ईंधन के भाव में तेजी देखने को मिल रही थी.
>> दिल्ली में पेट्रोल 90.58 रुपये और डीजल 80.97 रुपये प्रति लीटर है.
>> मुंबई में पेट्रोल 97.00 रुपये और डीजल 88.06 रुपये प्रति लीटर है.
>> कोलकाता में पेट्रोल 91.78 रुपये और डीजल 84.56 रुपये प्रति लीटर है.
>> चेन्नई में पेट्रोल 92.59 रुपये और डीजल 85.98 रुपये प्रति लीटर है.
>> नोएडा में पेट्रोल 88.92 रुपये और डीजल 81.41 रुपये प्रति लीटर है.
>> बैंगलूरु में पेट्रोल 93.61 रुपये और डीजल 85.84 रुपये प्रति लीटर है.
>> भोपाल में पेट्रोल 98.60 रुपये और डीजल 89.23 रुपये प्रति लीटर है.
>> चंडीगढ़ में पेट्रोल 87.16 रुपये और डीजल 80.67 रुपये प्रति लीटर है.
>> पटना में पेट्रोल 92.91 रुपये और डीजल 86.22 रुपये प्रति लीटर है.
>> लखनऊ में पेट्रोल 88.86 रुपये और डीजल 81.35 रुपये प्रति लीटर है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.