BIHARBreaking NewsSTATE

सुशील कुमार मोदी बोले- बिहार को उद्योगों की क’ब्रगाह बनाना चाहते हैं लालू प्रसाद यादव और वामपंथी

राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी ने कहा कि आरजेडी समेत महागठबंधन के तमाम घटक दल बिहार में कानून व्यवस्था के बहाने एक लोकप्रिय सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की संगत में आरजेडी ने यह सीख लिया है। अब कामरेड की संगत में रहने वाले लालू प्रसाद यादव, बिहार को बंगाल की तरह उद्योग-व्यापार की कब्रगाह बनाना चाहते हैं।

आरजेडी ने रोजगार देने वालों के प्रति फैलायी घृ’णा : सुशील मोदी
सुशील कुमार मोदी का कहना है कि पूंजी निवेशकों को कोसने वाले लालू और वामपंथी बिहार को उद्योगों की कब्रगाह बनाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि कामरेड की संगत में रहने वाले आरजेडी ने हमेशा उद्योग-व्यापार में निवेश कर लोगों को रोजगार देने वालों के प्रति घृणा फैलायी, जिससे 15 साल में इस समुदाय के हजारों लोगों को पलायन करना पड़ा। खेती और व्यवसाय दोनों को चौपट कर बेरोजगारी बढ़ाने का गुनहगार आरजेडी चुनाव से पहले बेरोजगारों का हमदर्द बनने के लिए दस लाख सरकारी नौकरी देने का झांसा दे रहा था और अब उसके नेता पूंजी निवेशकों को कोसने में लगे हैं।

बंगाल की तरह बिहार को भी उद्योग-व्यापार की कब्रगाह बनाना चाहता है महागठबंधन : सुशील मोदी
राज्यसभा सांसद और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि, महागठबंधन बिहार को बंगाल की तरह उद्योग-व्यापार की कब्रगाह बनाना चाहता है। उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद ने वामपंथियों को अपना नेचुरल फ्रेंड माना इसलिए उनके राज में नक्सली हिंसा से बिहार के किसान बर्बाद हुए। सुशील मोदी ने आगे कहा कि इसके बदले कम्युनिस्टों ने लालू-राबडी राज के भ्रष्टाचार, परिवारवाद और फिरौती-अपहरण उद्योग के खिलाफ कभी धरना-प्रदर्शन नहीं किया। बिहार की बदहाली के लिए आरजेडी के साझा-गुनहगार कम्युनिस्टों को जनता ने 16 वीं विधानसभा में मात्र तीन सीट पर सिमटा दिया था, लेकिन लालू प्रसाद ने फिर उन्हें सिर उठाने का मौका दे दिया। उन्होंने कहा कि जब तक आरजेडी और वामदल हावी रहेंगे, बिहार के विकास में अड़ंगेबाजी होती रहेगी।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.