BIHARBreaking NewsSTATEUTTAR PRADESH

राम मंदिर निर्माण के लिए बिहार से खुल कर मिल रहा चंदा, कम पड़ने लगी रसीद

पटना. अयोध्या में राम मंदिर निर्माण (Ram Mandir) की तैयारी तेजी से चल रही हैं. मंदिर निर्माण के लिए चंदा इक्ट्ठा करने का भी काम लगातार जारी है. एबीपी की खबर के मुताबिक, बिहार (Bihar) में भी 16 जनवरी से चंदा जुटाने का काम किया जा रहा है. कुछ ही दिनों बिहार के लोगों से ऐसा चंदा मिला कि रसीद ही कम पड़ने लगी. चंदा के प्रचार समिति के मुताबिक, रसीद की मांग लगातार बढ़ती जा रही है. चंदा देने वाले भक्तों की तादाद काफी ज्यादा है. ऐसे में रसीद की मांग भी बढ़ गई है.

राम मंदिर के लिए कई नामी चेहरे आगे आए और अपना सहयोग दिया. इसी कड़ी में एक और नाम पूर्व क्रिकेटर और बीजेपी सांसद गौतम गंभीर का भी जुड़ गया है. गौतम गंभीर ने राम मंदिर निर्माण के लिए एक करोड़ रुपये की सहायता राशि दी है. खबर के मुताबिक, गुरुवार को गौतम गंभीर ने श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के संतों से मुलाकात कर सहयोग राशि दी है.

कई हस्तियों ने दी सहयोग राशि

बता दें कि राम मंदिर ट्रस्ट और विश्व हिन्दु परिषद की ओर से देशभर से चंदा इक्ट्ठा करने का अभियान चलाया जा रहा है. पांच लाख परिवारों तक पहुंचे का लक्ष्य तय किया गया है. गुरुवार को पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने राम मंदिर निर्माण के लिए 5 लाख रुपये का योगदान दिया. इससे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 5 लाख की सहयोगी राशि दे चुके हैं. सीएम योगी आदित्यनाथ, बॉलीवुड स्टार अक्ष्य कुमार सहित कई नाम हस्तियों ने राम मंदिर के लिए अपना योगदान दिया है.

मंदिर के डिजाइन पर फैसला जल्द

अयोध्या के सर्किट हाउस में गुरुवार को राम मंदिर निर्माण समिति की पहले दिन की बैठक संपन्न हुई. बैठक में राम मंदिर की नींव को लेकर चर्चा हुई. हालांकि, नींव की डिजाइन को लेकर अभी कोई निर्णय नहीं हुआ है लेकिन श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष गोविंद देव गिरी महाराज ने कहा कि जल्द ही नींव की डिजाइन पर फैसला ले लिया जाएगा. हालांकि निर्माण समिति की बैठक शुक्रवार को भी होनी है. बैठक में टाटा और एलनटी के इंजीनियरों द्वारा राम मंदिर के नींव की डिजाइन का प्रेजेंटेशन मंदिर निर्माण समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्र समेत ट्रस्ट के पदाधिकारियों सदस्यों के सामने दिया गया.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.