Breaking NewsNational

कोरोना वायरस के चलते गणतंत्र दिवस पर कोई विदेशी राष्ट्र प्रमुख नहीं होगा मुख्य अतिथि: केंद्र

दिल्ली. दुनिया भर में फैले कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रकोप को देखते हुए भारत सरकार ने 26 जनवरी को होने वाले गणतंत्र दिवस कार्यक्रम (Republic Day event) में किसी भी विदेशी प्रमुख को आमंत्रित नहीं करने का फैसला किया है. विदेश मंत्रालय (Ministry of External Affairs) ने गुरुवार को यह जानकारी दी. मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने एक बयान में कहा कि “वैश्विक स्तर पर कोविड-19 की स्थिति के कारण गणतंत्र दिवस पर किसी भी विदेशी राष्ट्राध्यक्ष या शासनाध्यक्ष को मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित नहीं करने का फैसला किया गया है.”

इससे पहले भारत ने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Britain PM Boris Johnson) को गणतंत्र दिवस कार्यक्रम के लिए आमंत्रित किया था लेकिन ब्रिटेन में फैल रहे कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन (Coronavirus New Strain) के मद्देनजर जॉनसन ने अपना दौरा रद्द कर दिया था. इसके बाद सरकार की तरफ से सूरीनाम गणराज्य के राष्ट्रपति चंद्रिकाप्रसाद संतोखी (Chandrikapersad Santokhi) को न्योता दिया गया, जिसे उन्होंने सहर्ष स्वीकार कर लिया.

गणतंत्र दिवस परेड का हिस्सा होंगे NSG कमांडो
बता दें कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर इस साल गणतंत्र दिवस की परेड में काफी बदलाव किए गए हैं. इस साल परेड की दूरी को हमेशा की तुलना में कम किया गया है. इस साल परेड विजय चौक से शुरू होकर लाल किले के बजाय नेशनल स्टेडियम पर ही खत्म हो जाएगी. विजय चौक से लाल क़िले की दूरी तकरीबन 8.2 किलोमीटर है लेकिन विजय चौक से नेशनल स्टेडियम तक की दूरी सिर्फ 3.3 किलोमीटर यानी कह सकते है कि इस साल की परेड आधे से कम दूरी में खत्म हो जाएगी.

इसके साथ ही परेड में कोरोना के सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का भी पालन किया जाएगा. हर बार मार्चिग कंटिजेंट में 144 सैनिक होते थे लेकिन इस बार सिर्फ 96 शामिल होंगे. जो परेड 12/12 के साइज़ के कंटिजेंट में होती थी वहीं इस बार 8/12 का मार्चिंग कंटिंजेंट होगा. यही नहीं, इस बार राजपथ पर परेड देखने वाले लोगों की संख्या को काफी हद तक घटा दिया है. पहले तकरीबन एक लाख पंद्रह हज़ार लोग परेड देखते थे लेकिन इस बार सिर्फ 25 हज़ार लोग ही परेड देख पाएंगे. आयोजन के दौरान कोरोना के सभी प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा.

इसके साथ ही बांग्लादेश मुक्ति संग्राम  के 50 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में बांग्लादेश ट्राइ-सर्विस मार्चिंग कंटेस्टेंट और सेरेमोनियल बैंड इस साल गणतंत्र दिवस परेड में नई दिल्ली के राजपथ पर हिस्सा लेंगे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.