BIHARBreaking NewsMUZAFFARPURSTATE

मुजफ्फरपुर में साफ व शुष्क मौसम से होगा नए साल का आगाज

मंगलवार की सुबह धूप निकली लेकिन कुहासे का असर बरकरार रहा। आसमान में हल्के बादल छाए रहे। इसके कारण राहगीर परेशान दिखे। मौसम पूर्वानुमान में बताया गया है कि इधर दो दिनों में ठंड का असर बढ़ेगा। तापमान में गिरावट आ सकती है। डॉ. राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय, पूसा के तकनीकी पदाधिकारी डॉ. गुलाब ¨सह व नोडल पदाधिकारी डॉ. ए सत्तार ने बताया कि 30 दिसंबर से तीन जनवरी 2021 तक मौसम साफ व शुष्क रहेगा। इस बीच अधिकतम तापमान 20 से 22 डिग्री सेल्सियस तथा न्यूनतम तापमान सात से नौ डिग्री सेल्सियस के बीच रहने की संभावना है। इस बीच सात से आठ किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से पछिया हवा चलने की संभावना है। पूर्वानुमान की अवधि में सुबह में मध्यम कुहासा छा सकता है। गोपालगंज, सिवान, सारण, पश्चिम व पूर्वी चंपारण जिलों में मध्यम से घना कुहासा रह सकता है।

अलाव जलाकर पा रहे राहत

ठंड से राहत के लिए लोग जगह-जगह अलाव जलाकर राहत महसूस कर रहे हैं। घर में हीटर जलाकर लोग राहत महसूस कर रहे है। डॉ. राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय, पूसा के मौसम विभाग के नोडल पदाधिकारी डॉ. ए सत्तार ने बताया है कि आने वाले दिनों में सुबह में कुहासे का असर बढ़ेगा। दिन में धूप निकलेगी। हल्के बादल छा सकते हैं। सुबह में कुहासे व ठंड का असर बढ़ेगा। पूरबा हवा चलने व आकाश में बदल छाने का भी अनुमान है। आलू को झुलसा रोग से बचाने की कोशिश करें : किसानों के लिए स़ुझाव दिया गया है कि वे आलू को झुलस रोग से बचाने की कोशिश करें। कोहरे के कारण आलू की फसल को ज्यादा नुकसान पहुंचने की आशंका है। दुधारू पशुओं को उचित आहार व ठंड से बचाने के उपाय करने की सलाह भी है।

स्वास्थ्य पर देना चाहिए ध्यान

होमियोपैथिक विशेषज्ञ डॉ. कमर आलम ने बताया कि जिस तरह का मौसम चल रहा है उसके हिसाब से बच्चों व बुजुर्गों को सतर्क रहने की जरूरत है। गर्म पानी का सेवन करें। धूप को देखकर बाहर निकलते समय शरीर पर गर्म कपड़े रहने चाहिए। इस मौसम में थोड़ी सी लापरवाही आपको बीमार कर सकती है। अभी के मौसम में कोल्ड डायरिया का प्रभाव ज्यादा रहता है। अगर कै-दस्त हो तो नमक, चीनी, पानी का घोल अपने बच्चे को दें। इससे राहत नहीं मिले तो किसी निकट के अस्पताल जाना चाहिए। जो लोग नियमित टहलने वाले हैं उनको इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि जब धूप निकले तभी टहलने निकलें। अगर आप र’क्तचाप और मधुमेह की दवा ले रहे हैं तो उसका सेवन बंद नहीं करना चाहिए। घर के अंदर व्यायाम कर सकते हैं। खुले में सुबह-सुबह स्नान करने से परहेज करें।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.