Breaking NewsHealth & WellnessNational

कोरोना वैक्सीन के 2.25 करोड़ डोज स्टोर करने की तैयारी, पशु पालन विभाग को मिली जिम्मेदारी

देश में कोविड-19 वैक्सीन के जल्द उपलब्ध होने की सुगबुगाहट के बीच अब विभिन्न राज्य सरकारों ने वैक्सीन के वितरण और इसके रखरखाव को लेकर युद्ध स्तर पर तैयारियां शुरू कर दी है. बीते दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हुई कोविड-19 पर बैठक के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी आश्वस्त किया कि बिहार में वैक्सीन के वितरण को लेकर पूरी तैयारियां की जा रही हैं.

जानकारी के मुताबिक बिहार सरकार कोविड-19 वैक्सीन के वितरण से पहले उसके रखरखाव के लिए आधारभूत संरचना का निर्माण कर रही है. राज्य सरकार दो करोड़ से ढाई करोड़ वैक्सीन का डोज के रखरखाव के लिए तैयारी कर रही है. बिहार में वैक्सीन के रखरखाव के लिए स्वास्थ्य विभाग पशुपालन विभाग के साथ तालमेल बनाकर काम कर रहा है. बता दें कि बिहार में वैक्सीन के रखरखाव का काम पशुपालन विभाग को ही दिया गया है.

बिहार में 674 कोल्ड चेन पॉइंट बिहार में फिलहाल 674 कोल्ड चेन पॉइंट हैं जहां 1.37 डोज रखने की जगह है और राज्य सरकार को जल्द 1 करोड़ डोज के स्टोरेज का इंतेजाम करना है. पटना के वेटरनरी कॉलेज में फिलहाल 10 लाख वैक्सीन की डोज को रखने की तैयारी की जा रही है. पटना में वैक्सीन को सुरक्षित रखने की क्या तैयारी है इसको लेकर आज तक की टीम सोमवार को जिला पशुपालन विभाग के कार्यालय पहुंची.जिला पशुपालन विभाग के कार्यालय में पहुंचने के बाद जानकारी मिली कि वैक्सीन को रखने के लिए पहले से ही एक कोल्ड स्टोरेज कार्यरत है जिसकी क्षमता 2 लाख वैक्सीन का डोज रखने की है. पशुपालन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि एक मौजूदा कोल्ड स्टोरेज के साथ दो और कोल्ड स्टोरेज तैयार किया जा रहा है जिसकी क्षमता भी 2 लाख वैक्सीन प्रति कोल्ड स्टोरेज की है.nullकेंद्र सरकार ने उपलब्ध करवाए ILR पशुपालन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि केंद्र सरकार की तरफ से बिहार को ICE LINED REFRIGERATOR (ILR) भी उपलब्ध कराया गया है जिसमें से 39 ILR पटना को दिया गया है. हर ILR की क्षमता 10 हजार वैक्सीन डोज रखने की है. पटना की बात करें तो बिहार सरकार ने पटना जिले के 23 ब्लॉक के लिए तकरीबन 10 लाख वैक्सीन के डोज के रखरखाव के लिए तैयारी की है. जानकारी के मुताबिक जिला पशुपालन कार्यालय की तरफ से पटना के मनेर, दुल्हन बाजार, बिहटा, पटना सिटी, बांकीपुर और पालीगंज में ILR मशीन उपलब्ध करवा दी गई है और बाकी ब्लॉक में भी पहुंचाने की तैयारी की जा रही है.डॉ. सूर्य भूषण, पशुपालन पदाधिकारी ने कहा कि पटना में कोविड-19 वैक्सीन के डोज के रखरखाव के लिए पूरी तैयारी की जा रही है. एक कोल्ड स्टोरेज काम कर रहा और बाकी दो बनाया जा रहा है. साथ ही केंद्र सरकार की तरफ ILR भी भिजवाया गया है, जिसे ब्लॉक लेवल में पहुंचाया जा रहा है. अकेले पटना में 1000000 वैक्सीन के डोज रखने की तैयारी है. निजी अस्पतालों का भी डेटा बेस हो रहा तैयार इसके साथ ही राज्य सरकार राज्य के सभी मेडिकल कॉलेजों के साथ-साथ सरकारी और निजी अस्पतालों का भी डेटा बेस तैयार करवा रही है जहां पर कोविड-19 के वैक्सीन को रखा जा सके. इसके लिए बिहार राज्य स्वास्थ्य समिति ने सभी जिला अधिकारियों को पत्र लिखा है और जिले में मेडिकल कॉलेज, सरकारी और निजी अस्पतालों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराने के लिए कहा है.सूत्रों के अनुसार राज्य सरकार ऐसी व्यवस्था करने में लगी है ताकि प्रखंड स्तर तक वैक्सीन पहुंच सके, जहां से प्रत्येक गांव तक इसे पहुंचाया जा सके. इसके लिए लोकल स्तर पर भी कई टीम का गठन किया गया है. केंद्र सरकार के दिशा निर्देश के अनुसार सबसे पहले बिहार में भी कोविड-19 वैक्सीन फ्रंटलाइन पर काम कर रहे कोरोना वॉरियर्स जिनमें स्वास्थ्य कर्मी शामिल हैं, उन्हें सबसे पहले वैक्सीन दी जाएगी. बिहार सरकार ऐसे स्वास्थ्य कर्मियों का डेटाबेस तैयार करवा रही है जो सरकारी और निजी क्षेत्रों में महामा’री के खि’लाफ जंग लड़ रहे हैं. वैक्सीन आने के बाद सबसे पहले इन लोगों को वैक्सीन दी जाएगी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.