BIHARBreaking NewsSTATE

समाज और राष्ट्र के रक्षार्थ कराएं कोविड टीकाकरण : चित्रकुटी महाराज

  • श्री रस कांति कुंज विरौली धाम के धर्मगुरुओं ने की अपील
  • महामारी में सामाजिक सहिष्णुता बनाए रखने की जरूरत

सीतामढ़ी, 10 जून।
हमने और आपने आज तक मंदिरों से धार्मिक गीत और भजन ही सुने होगें, पर पुपरी प्रखंड का श्री रस कांति कुंज जो कि विरौली धाम से भी प्रख्यात है, इस समय धार्मिक गीत और भजन के साथ लोगों को कोविड के नियमों का पालन करने और टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित करने में जुटा है । यह सभी बातें यहां के धर्मगुरु खुद माइकिंग के द्वारा कहते हैं। विरौली धाम के चित्रकुटी जी महाराज कहते हैं धर्मगुरु का अर्थ हमेशा लोगों को सही रास्ता दिखाना और कल्याण करना होता है। ऐसे में वर्तमान में कोरोना के कारण जो परिस्थिति बनी है उससे लोगों को सही मार्ग बताना हमारा कर्तव्य है। जिससे राष्ट्र और समाज का कल्याण हो पाएगा।
45 प्लस को टीकाकरण के लिए करते हैं प्रेरित
चित्रकुटी जी महाराज कहते हैं कि मैं और मेरे शिष्य राघवेंद्र शर्मा दोनों ही सुबह और शाम की आरती के बाद माइक से लोगों को कोरोना से बचने के उपाय और 45 से ऊपर के लोगों को टीकाकरण की सलाह देता हूं। अभी हाल में ही टीकाकरण एक्सप्रेस यहां पहुंची थी। जिसमें लोगों से ठाकुरबाड़ी के माध्यम से ही टीकाकरण कराने के लिए आने का आग्रह किया गया था। लोगों से हर बार अपील करता हूं कि समाज और राष्ट्र के रक्षार्थ हेतु टीकाकरण जरूर कराएं।
धार्मिक दिवसों पर भीड़ न लगाने की सलाह
चित्रकूटी बाबा लोगों से अपील करते हैं कि अभी कोई भी धार्मिक स्थलों पर न जाएं। अभी वे पूर्णत: बंद हैं । वहीं लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी धार्मिक दिवसों जैसे अमावस्या, पूर्णिमा आने वाले गंगा दशहरा पर भीड़ एकत्र न होने दें। धार्मिक आयोजनों को घर में करें। मास्क का नियमित प्रयोग करें। घर आने से पहले हाथ और पैर जरूर धोएं। आवश्यकता पड़ने पर ही घर से बाहर निकलें। कोरोना के नियमों का पालन करें यही भगवान को एक भक्त की भक्ति होगी।
इन मानकों का करें पालन, कोविड-19 संक्रमण से रहें दूर रहें :

  • विटामिन-सी युक्त पदार्थों का अधिक सेवन करें।
  • मास्क का उपयोग और शारीरिक दूरी का पालन जारी रखें।
  • भ्रांतियों से दूर रहें और भारतीय वैज्ञानिकों एवं चिकित्सकों पर भरोसा कर पूरी तरह निर्भीक होकर वैक्सीनेशन कराएं।
  • लक्षण महसूस होने पर कोविड-19 जाँच कराएं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.