BIHARBreaking NewsSTATE

LOCKDOWN को तेजस्वी यादव ने बताया नौटंकी, कहा – नीतीश जी, निम्नस्तर की राजनीति से बाज आइए

PATNA : बिहार में 15 मई तक लॉकडाउन लगाने का फैसला हो गया है, नीतीश कुमार ने खुद इसकी घोषणा की है। लेकिन इस घोषणा के साथ ही सरकार पर हमला शुरू हो गया है। सरकार के फैसले की टाइमिंग पर तेजस्वी ने सरकार को घेरते हुए कहा है कि जब 15 दिन से समूचा विपक्ष लॉकडाउन करने की माँग कर रहा था लेकिन छोटे साहब अपने बड़े साहब के आदेश का पालन कर रहे थे कि 2 मई तक लॉकडाउन नहीं करना है। अब जब गाँव-गाँव, टोला-टोला संक्रमण फैल गया तब दिखावा कर रहे है। तेजस्वी ने सीएम नीतीश पर तंज कसते हुए कहा कि इस संकट काल में तो निम्नस्तरीय नौटंकी और राजनीति से बाहर आइये, बाज आइए।





मांझी की पार्टी ने भी जताया विरोध

लॉकडाउन का विरोध सिर्फ राजद तक सीमित नहीं है। हम के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने कहा कि सरकार ने 11 दिनों का आखिरकार लॉकडाउन लगाया है तो सरकार के पास क्या कुछ स्ट्रेटजी है। जो लोग प्रतिदिन कमाकर अपना दिन गुजर बसर करते थे उनके लिए सरकार के पास क्या कुछ योजना है। उन्होंने कहा कि हमारे नेत जीतन राम मांझी ने लॉकडाउन का विरोध किया था। सर्वदलीय बैठक जब हो रही थी तो उस वक्त उन्होंने कहा था कि कुछ भी हो जाए लेकिन लॉकडाउन नहीं लगना चाहिए। उसके बाद भी उन्होंने ट्वीट करके कहा था कि बिजली बिजली पानी का बिल अगर यह सब सरकार 3 महीने तक माफ करती है तो हम लोग उनके पक्ष में आएंगे लेकिन जब सरकार ने यह फैसला ले लिया।



बनाए गए हैं कड़े नियम

इस लॉकडाउन को लेकर सरकार ने सख्त नियम बनाए हैं। राज्य सरकार के द्वारा राज्य के सभी सरकारी कार्यालयों को बंद रखने का निर्देश दिया गया है इसमें आवश्यक सेवाओं को छोड़कर के सभी कार्यालय पूरी तरीके से बंद होंगे अस्पताल एवं अन्य संबंधित स्वास्थ्य प्रतिष्ठान उनके निर्माण इकाइयां सरकारी मेडिकल नर्सिंग होम एंबुलेंस सेवाओं से संबंधित प्रतिष्ठान पहले काम करेंगे वाणिज्यिक एवं अन्य निजी प्रतिष्ठान पूरी तरीके से बंद रहेंगे इसमें बैंक औद्योगिक एवं निर्माण से जुड़े प्रतिष्ठान ई-कॉमर्स से जुड़ी सेवाएं कृषि एवं से जुड़े कार्य पेट्रोल पंप जैसी जरूरी सेवाएं अलग रखी गई है। 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.