Breaking NewsEDUCATION

अभिभावकों की जेब होंगी ढीली, बिहार के इन स्कूलों में नामांकन शुल्क सात से 12 हजार रुपये तक बढ़ा

बिहार में नर्सरी और एलकेजी में बच्चों का नामांकन करवाने वाले अभिभावकों की जेबें इस बार ढीली होंगी। ज्यादातर स्कूलों ने इस बार नामांकन शुल्क बढ़ा दिये हैं। 2020 की अपेक्षा 2021 में नर्सरी नामांकन शुल्क में सात से 12 हजार रुपये तक बढ़ाए गए हैं। इसकी जानकारी स्कूलों द्वारा अभिभावकों को दी जाने लगी है।

ज्ञात हो कि इस सप्ताह से स्कूलों ने एलकेजी नामांकन का रिजल्ट निकालना शुरू कर दिया है। जिस बच्चे का नाम नामांकन सूची में आया है। उन्हें स्कूल द्वारा फीस एक्सट्रक्चर की जानकारी दी गई है। जिन स्कूलों ने पिछले साल नर्सरी में नामांकन शुल्क 55  से 58 हजार रुपये लिया था, वे इस बार 65-66 हजार रुपये शुल्क के तौर पर ले रहे हैं। यह स्थिति राजधानी पटना के कई बड़े स्कूलों की है ।

– 22 फरवरी से शुरू होगा नामांकन  
नामांकन के लिए रिजल्ट जारी होने के बाद स्कूलों द्वारा नामांकन प्रक्रिया की तिथि भी जारी कर दी गई है। नामांकन 22 फरवरी से शुरू होगा। नर्सरी नामांकन मार्च के दूसरे सप्ताह तक चलेगा। होली के पहले स्कूलों में नर्सरी नामांकन की प्रक्रिया पूरी कर ली जायेगी। इस बीच अभिभावकों को बच्चों के लिए यूनिफॉर्म, स्कूल बैग आदि की भी खरीदारी करनी होगी। 

– पिछले पांच साल में सबसे ज्यादा बढ़ा नामांकन शुल्क 
इस बार नर्सरी नामांकन में सबसे ज्यादा शुल्क बढ़ोतरी की गई है। अभी तक नामांकन शुल्क में पांच हजार रुपये तक ही बढ़ोतरी होती थी। स्कूल सूत्रों की मानें तो पिछले पांच साल में पहली बार सबसे ज्यादा बढ़ोतरी की गई है। कई स्कूल तो नामांकन के अलावा किताबें, स्कूल बैग, यूनिफार्म आदि के लिए अलग से शुल्क ले रहे हैं।  

– कागजात में गड़बड़ी तो नामांकन होगा रद्द 
नामांकन के समय अभिभावकों को वो सारे कागजात जमा करने होंगे, जिसे उन्होंने आवेदन फार्म भरने के समय दिया था। इन सारे कागजात का मिलान किया जायेगा। अगर किसी भी कागजात का मिलान नहीं होगा तो ऐसे बच्चों का नामांकन रद्द का दिया जायेगा। इसकी जानकारी स्कूलों ने अभिभावकों को दी है। इस कारण सभी अभिभावकों से सारे कागजात समेत फैमिली फोटो और बच्चे की फोटो लाने को कहा गया है। 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.