Breaking NewsInternational

बिल गेट्स ने भी की भारत की तारीफ, कहा- वैक्सीन उत्पादन क्षमता और लीडरशिप कमाल है

वाशिंगटन. भारत ने बायोटेक (Bharat Biotech) की कोवैक्सीन (Covaxin) और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) की कोविशील्ड (Covishield) को फिलहाल शर्तों के साथ इमरजेंसी इस्तेमाल की अनुमति दे दी है. भारत की इस पहल के बाद माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक बिल गेट्स (Bill Gates) ने भी भारतीय लीडरशिप, वैज्ञानिक इनोवेशन और वैक्सीन उत्पादन क्षमता की सराहना की है.

दो वैक्सीन को इस्तेमाल की अनुमति मिलने के बाद भारत में अगले सप्ताह से वैक्सीनेशन अभियान शुरू हो सकता है. वैक्सीनेशन प्रोग्राम से पहले देशभर के प्रमुख शहरों में ड्राई रन किया गया. प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) को टैग करते हुए बिल गेट्स ने ट्विटर पर कहा, ‘वैज्ञानिक इनोवेशन और वैक्सीन उत्पादन क्षमता में भारत के नेतृत्व को देखकर खुशी महसूस होती है, क्योंकि दुनिया कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए कार्य करने में जुटी हुई है.’ इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने कहा था कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन अभियान देश में शुरू होने के लिए तैयार है.

कोरोना के बढ़ते मामलों पर चिंतित हैं बिल गेट्स
इससे पहले बिल गेट्स ने कहा था कि कोविड-19 की महामारी को लेकर अभी भी सतर्क रहना जरूरी है. कोविड वैक्सीन से स्थिति में सुधार आने की संभावना है लेकिन ये इतना भी आसान नहीं होने वाला है. बिल गेट्स ने कहा कि नए साल का पहला महीना चुनौतीपूर्ण साबित हो सकता है, जरूरी है कि नए स्ट्रेन पर काबू पाने के लिए तेजी से काम किया जाए. उन्होंने कहा कि कि गर्मियों तक वैक्सीन का वैश्विक असर देखने को मिल सकता है.


उन्होंने लोगों को अलर्ट करते हुए कहा कि अभी भी हम खतरे से बाहर नहीं निकले हैं. साथ ही उन्होंने कंप्यूटर मॉडल्स की महामारी को लेकर गणना का भी जिक्र किया, जिसमें आने वाले महीने में महामारी के खतरे के बढ़ने की आशंका जताई गई है. साथ ही उन्होंने उन लोगों का भी शुक्रिया किया जिन्होंने कोविड गाइडलाइन्स का पालन करते हुए महामारी की रफ्तार को धीमा करने में अहम योगदान दिया. वैक्सीन के आने तक सिर्फ और सिर्फ यही एक तरीका था जिससे लोगों की जान बचाई जा सके.


पीएम मोदी ने जल्द वैक्सीनेशन शुरू होने का भरोसा जताया
वैक्सीनेशन को अनुमति मिलने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीनेशन प्रोग्राम को शुरू करने की दहलीज पर है. नेशनल मेट्रोलॉजी कॉनक्लेव को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन प्रोग्राम भारत में शुरू होने वाला है.’ उन्होंने मेड इन इंडिया टीकों के लिए वैज्ञानिकों और तकनीशियनों की सराहना भी की. नेशनल मेट्रोलॉजी कॉनक्लेव में वैज्ञानिकों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘इस बात का पूरा खयाल रखा जाए कि ‘मेड इन इंडिया’ प्रोडक्ट्स की वैश्विक मांग तो हो ही, लेकिन वैश्विक स्वीकारता भी हो. गुणवत्ता उतनी ही महत्वपूर्ण है जितनी कि मात्रा, हमारा स्तर आत्मनिर्भर भारत की खोज के हमारे स्तर की होनी चाहिए.’

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.