Breaking NewsInternational

सावधान ! इंग्लैंड ही नहीं कई देशों में फैला नया कोरोना वायरस

PATNA : नए कोरोना वायरस को लेकर लोगों में दहशत का माहौल है. ब्रिटेन में हाहाकार मचा हुआ है. भारत में भी लोगों के बीच नए कोरोना वायरस को लेकर डर का माहौल है क्योंकि नया वाला कोरोना वायरस अब सिर्फ ब्रिटेन ही नहीं बल्कि कई देशों में फ़ैल चुका है. कोरोना के नए मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने 5 जनवरी तक नगर निगम इलाकों में रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया. इसके साथ ही, यूरोप और मध्य-पू्र्व से आने वालों को 14 दिनों तक इंस्टीट्यूशनल क्वारंटाइन होना पड़ेगा.

उधर भारत सरकार ने बड़ा कदम उठाते हुए ब्रिटेन से आने वाले विमानों पर 31 दिसंबर तक रोक लगा दी है. भारत सरकार ने फैसला किया है कि ब्रिटेन से भारत आने वाली सभी उड़ानों को अस्थायी रूप से 31 दिसंबर, 11:59 बजे तक निलंबित कर दिया जाएगा. यह प्रतिबंध 22 दिसंबर की रात 11:59 बजे से प्रभावी हो जाएगा. एहतियात के तौर पर ब्रिटेन से आने वाले विमानों में सवार यात्रियों का हवाई अड्डों पर आगमन पर आरटी-पीसीआर परीक्षण अनिवार्य होगा.

आपको बता दें कि इस नए वायरस के चलते ब्रिटेन में राजधानी लंदन समेत कई इलाकों में फिर से लॉकडाउन लागू करना पड़ा है. लेकिन अब ये नया वाला कोरोना वायरस सिर्फ इंग्लैंड तक ही सिमित नहीं रहा. यह वायरस इंग्लैंड के अलावा कई देशों में फ़ैल चुका है. नया कोरोना वायरस कम से कम पांच देशों में फैल चुका है. हालांकि, कई देशों ने आशंका जाहिर की है कि उनके यहां पहले से कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन मौजूद हो सकता है.

डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, ब्रिटेन के साथ-साथ डेनमार्क, नीदरलैंड, ऑस्ट्रेलिया और इटली में नए कोरोना वायरस की पुष्टि हो चुकी है.  ब्रिटेन से एक यात्री रोम पहुंचा था, जिसकी वजह से इटली में नया कोरोना वायरस पाया गया है. फ्रांस में भी नए वायरस को लेकर चेतावनी दी गई है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि नया कोरोना वायरस 70 फीसदी तक अधिक संक्रामक है. नवंबर महीने में ही डेनमार्क में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के 9 मामले मिले थे और एक मामला ऑस्ट्रेलिया में पाया गया था. नीदरलैंड ने कहा है कि इसी महीने उनके यहां कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन मिला है. बेल्जियम के मामले की आधिकारिक तौर से पुष्टि नहीं हुई है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वायरस में लगातार म्यूटेशन होता रहता है, यानी इसके गुण बदलते रहते हैं. म्यूटेशन होने से ज्यादातर वेरिएंट खुद ही खत्म हो जाते हैं, लेकिन कभी-कभी यह पहले से कई गुना ज्यादा मजबूत और खत’रनाक हो जाता है. यह प्रोसेस इतनी तेजी से होती है कि वैज्ञानिक एक रूप को समझ भी नहीं पाते और दूसरा नया रूप सामने आ जाता है. वैज्ञानिकों को अनुमान है कि कोरोनावायरस को जो नया रूप ब्रिटेन में मिला है वह पहले से 70% ज्यादा खतर’नाक हो सकता है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.