Breaking NewsUTTAR PRADESH

पीएम मोदी ने विंध्यवासियों को दी पेयजल परियोजना की सौगात, कहा- साफ पानी से मासूम बच्चों का सुधरेगा स्वास्थ्य

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने पेयजल संकट से जूझ रहे सोनभद्र (Sonbhadra) व मिर्जापुर (Mirzapur) के लोगों को 5,555 करोड़ की 23 ग्रामीण पेयजल परियोजना की सौगात दे दी है. पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इन 23 ग्रामीण पेयजल परियोजना का शिलान्यास किया. इस खास मौके पर सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सोनभद्र में मौजूद रहे. सरकार की इस योजना से 41 लाख की आबादी को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराया जा सकेगा.

पेयजल योजना की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने कहा, हर घर जल पहुंचाने के अभियान को अब डेढ़ साल हो रहे हैं. इस दौरान देश में 2 करोड़ 60 लाख से ज्यादा परिवारों को उनके घरों में नल से शुद्ध पीने का पानी पहुंचाने का इंतजाम किया गया है. इसमें लाखों परिवार उत्तर प्रदेश के भी हैं. पीएम मोदी ने कहा, जल जीवन मिशन के तहत घर-घर पाइप से पानी पहुंचने की वजह से हमारी माताओं-बहनों का जीवन आसान हो रहा है. इसका एक बड़ा लाभ गरीब परिवारों के स्वास्थ्य को भी हुआ है. इससे गंदे पानी से होने वाली हैज़ा, टायफायड, इंसेफलाइटिस जैसी अनेक बीमारियों में भी कमी आ रही है.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, जब विंध्यांचल के हजारों गांवों में पाइप से पानी पहुंचेगा, तो इससे भी इस क्षेत्र के मासूम बच्चों का स्वास्थ्य सुधरेगा. उनका शारीरिक और मानसिक विकास और बेहतर होगा. जब अपने गांव के विकास के लिए, खुद फैसले लेने की स्वतंत्रता मिलती है, उन फैसलों पर काम होता है, तो उससे गांव के हर व्यक्ति का आत्मविश्वास बढ़ता है.आत्मनिर्भर गांव, आत्मनिर्भर भारत के अभियान को बल मिलता है.

सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास
पीएम मोदी ने कहा, देश के बाकी गांवों की तरह इस क्षेत्र में भी बिजली की बहुत बड़ी समस्या थी. आज ये क्षेत्र सौर ऊर्जा के क्षेत्र में दुनिया में अग्रणी बनता जा रहा है. भारत का अहम केंद्र है. मिर्जापुर का सौर ऊर्जा प्लांट यहां विकास का नया अध्याय लिख रहा है. आज सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास ये मंत्र देश के हर हिस्से में देश के हर नागरिक के विश्वास का मंत्र बन गया है. आज देश के हर जन, हर क्षेत्र को लग रहा है कि उस तक सरकार पहुंच रही है और वो भी देश के विकास में भागीदार है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.