BIHARBreaking NewsSTATE

जीतन राम मांझी बोले- दामाद था, बेरोजगार था, इसलिए दिया टिकट, तेजस्वी-चिराग को लेकर कही ये बात

मोर्चा (हम) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी (Jitan Ram manjhi) शराबबंदी कानून की समीक्षा का मुद्दा किसी और के हाथ नहीं जाने देना चाहते हैं. बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (Bihar Chunav 2020) में कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र (Ghoshna patra) में कहा है कि उसकी सरकार बनी तो शराबबंदी कानून की समीक्षा करेंगे. कांग्रेस जेल में बंद साढ़े तीन लाख लोगों की रिहाई का प्रयास करेगी.

मांझी यह मुद्दा पहले से उठाते रहे है़ं मीडिया से विशेष बातचीत में उन्होंने कहा कि वो शुरू से कहते आ रहे हैं कि शराबबंदी कानून (Wine ban in bihar) गरीबों विशेषकर दलित आदिवासियों के उत्पीड़न का कारण बनता रहा है़. सरकारी बनते ही वो इस कानून में संशोधन की अपील करेंगे. कई मामले ऐसे आये हैं कि पुलिस गरीब को पकड़ लेती है. अमीर को छोड़ देती है़.

मांझी ने परिवारवाद के आरोप को नकार दिया. बाराचट्टी से समधिन ज्योति देवी और मखदुमपुर से दामाद देवेंद्र कुमार मांझी (Devendra kumar manjhi) के चुनाव लड़ने को लेकर कहा कि समधिन पहले भी विधायक रही हैं. दामाद बेरोजगार हैं, इसलिए उनको टिकट दिया गया है. उन्होंने सभी सात सीटों पर जीत का दावा किया.

उन्होंने तेजस्वी यादव और उनकी घोषणाओं को हवा -हवाई बताया. तेजस्वी की सभाओं में भीड़ को लेकर कहा कि 2010 से लेकर आज तक राजद (RJD) की सभाओं में भीड़ ही होती है. वोट के दिन जनता नीतीश कुमार पर भरोसा करती है़ लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) पर भी वह निशाना साधने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.