BIHARBreaking NewsSTATE

PM मोदी ने कई योजनाओं का किया उद्घाटन, बोले.. स्वार्थ नीति के कारण दशकों तक बिहार का नहीं हुआ था विकास

PATNA: पीएम नरेंद्र मोदी ने बिहार के एक बार फिर कई योजनाओं की सौगात दी. योजनाओं के उद्घाटन के बाद पीएम मोदी ने कहा कि इसके बाद एक दौर ऐसा भी आया जब बिहार में मूल सुविधाओं के निर्माण के बजाय, राज्य के लोगों को आधुनिक सुविधाएं देने के बजाय, प्राथमिकताएं और प्रतिबद्धताएं पूरी तरह बदल गईं. नतीजा ये हुआ कि राज्य में गवर्नेंस से फोकस ही हट गया. जब शासन पर स्वार्थनीति हावी हो जाती है, वोटबैंक का तंत्र सिस्टम को दबाने लगता है, तो सबसे ज्यादा असर समाज के उस वर्ग को पड़ता है जो प्रताड़ित है, वंचित है, शोषित है. बिहार के लोगों ने इस दर्द को दशकों तक सहा है.

बिहार में हो रहा बदलाव

पीएम मोदी ने कहा कि बीते डेढ़ दशक से नीतीश कुमार और सुशील कुमार मोदी और उनकी टीम समाज के सबसे कमजोर वर्ग के आत्मविश्वास को लौटाने का प्रयास कर रही है. जिस प्रकार बेटियों की पढ़ाई को, पंचायती राज सहित स्थानीय निकाय में वंचित, शोषित समाज की भागीदारी को प्राथमिकता दी गई है. अब केंद्र और बिहार सरकार के साझा प्रयासों से बिहार के शहरों में पीने के पानी और सीवर जैसी मूल सुविधाओं में निरंतर सुधार हो रहा है. मिशन अमृत और राज्य सरकार की योजनाओं के तहत बिहार के शहरी क्षेत्र में लाखों परिवारों को पानी की सुविधा से जोड़ा गया है.

बिहार के लोगों को गंगा जी से गहरा नाता

पीएम मोदी ने कहा कि बिहार के लोगों का तो गंगा जी से बहुत ही गहरा नाता है. गंगा जल की स्वच्छता का सीधा प्रभाव करोड़ों लोगों पर पड़ता है. गंगा जी की स्वच्छता को ध्यान में रखते हुए ही बिहार में 6 हजार करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं. गंगा जी को निर्मल और अविरल बनाने का अभियान जैसे-जैसे आगे बढ़ता जा रहा है, वैसे-वैसे इसमें पर्यटन के आधुनिक आयाम भी जुड़ते जा रहे हैं. बिहार सहित पूरे देश में 180 से अधिक घाटों के निर्माण का काम चल रहा है. इसमें से 130 घाट पूरे भी हो चुके हैं.

छठी मैया का आशीर्वाद

पीएम मोदी ने कहा कि छठी मैया के आशीर्वाद से हम बिहार के शहरी और ग्रामीण इलाकों, उनको गंदे जल और बीमारी बढ़ाने वाले जल से मुक्ति दिलाने के लिए जी जान से काम करते रहेंगे.अभी हाल में ही सरकार ने एक डॉल्फिन प्रोजेक्ट की घोषणा की है. इसका बहुत बड़ा लाभ गंगा डॉल्फिन को भी होगा. पटना से लेकर भागलपुर तक के क्षेत्र का विस्तार डॉल्फिन का निवास स्थान है. इसलिए डॉल्फिन प्रोजेक्ट से बिहार को बहुत लाभ होगा.

कई योजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास

बिहार विधानसभा चुनाव पहले बिहार को लगातार पीएम नरेंद्र मोदी सौगात दे रहे हैं. आज फिर पीएम मोदी बिहार की जलापूर्ति और सीवरेज से जुड़ी 543.28 करोड़ की विभिन्न परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया. पीएम नरेंद्र मोदी पटना के बेउर और कर्मलीचक सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट के अलावा सीवान, छपरा, मुंगेर, जमालपुर, मुजफ्फरपुर से जुड़ी परियोजनाएं का भी उद्घाटन और शिलान्यास किया.

इससे पहले दो बार दे चुके हैं सौगात

13 सितंबर को पीएम मोदी ने बांका में इंडियन ऑयल का एलपीजी बॉटलिंग प्लांट उद्घाटन किया. यह प्लांट करीब 131.75 करोड़ रुपये के निवेश से बनाया गया है. 1800 एमटी की एलपीजी भंडारण क्षमता और प्रति दिन 40,000 सिलेंडर की बॉटलिंग क्षमता का है. इससे बिहार के साथ-साथ झारखंड के कई जिलों को लाभ मिलेगा. पूर्वी चंपारण के हरसिद्धि में भी एचपीसीएल के 120 टीएमटीपीए एलपीजी बॉटलिंग प्लांट का निर्माण का भी उद्घाटन किया. इसका निर्माण 136.4 करोड़ रुपए की लागत से किया गया है. इन बड़े परियोजनाओं के अलावे कई और योजनाओं का उद्घाटन करेंगे. 10 सितंबर को भी पीएम मोदी ने बिहार को मत्स्य, पशुपालन और कृषि विभाग से जुड़ी 294.53 करोड़ की योजनाओं की सौगात दी थी.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.