BIHARBreaking NewsSTATE

सुशील मोदी के राज्यसभा जाने से लालू गदगद, तेजस्वी को खि’लाफ में कैंडिडेट उतारने से किया मना

PATNA : बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम और बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी का राज्यसभा जाना तय हो गया है. सुशील कुमार मोदी का निर्विरोध निर्वाचित होने का रास्ता आज साफ हो गया. विपक्षी दलों ने सुशील मोदी के खिलाफ कोई कैंडिडेट नहीं दिया और अब 7 दिसंबर को नाम वापसी की समय सीमा खत्म होने के साथ सुशील मोदी राज्यसभा के लिए निर्वाचित घोषित कर दिए जाएंगे. सुशील मोदी के राज्यसभा जाने से उनके पुराने सहयोगी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक तरफ जहां खुश हैं. वहीं, दूसरी तरफ सुशील मोदी के कट्टर दुश्मन लालू यादव भी गदगद हैं.


आरजेडी से जुड़े सूत्रों की माने तो लालू यादव खुद सुशील मोदी के दिल्ली के राजनीति में जाने से खुश नजर आ रहे हैं. लालू चाहते हैं कि सुशील मोदी बिहार की राजनीति से दूर रहें ताकि खुद उन पर और उनके परिवार पर सुशील मोदी का हमला कम हो पाए. सुशील मोदी की राजनीति में लालू परिवार सबसे ऊपर रहा है. लालू परिवार के ऊपर निशना साधना सुशील मोदी की राजनीति का फेवरेट स्ट्रोक रहा है और ऐसे में अगर सुशील मोदी बिहार की राजनीति से दूर जाते हैं तो खुद लालू यादव के लिए यह किसी बड़ी राहत से कम नहीं होगा.

जानकार बता रहे हैं कि शुरुआती दौर में जब आरजेडी ने एलजेपी को सुशील मोदी के खिलाफ पर कैंडिडेट उतारने का ऑफर दिया उसकी खबर मिलने के बाद लालू ने तेजस्वी के पास संदेश भिजवाया था. लालू ने तुरंत तेजस्वी यादव को राज्यसभा चुनाव में कैंडिडेट देने या फिर किसी कैंडिडेट का समर्थन देने से परहेज करने को कहा था. लालू नहीं चाहते थे कि सुशील मोदी के राज्यसभा जाने के बीच कोई रोड़ा अटका या जाए.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.