Breaking News

अतिक्रमण पर जताई नाराजगी:70 करोड़ से मॉडर्न बनेगी बाजार समिति, कॉमर्शियल कॉॅम्प्लेक्स व दो प्लेटफॉर्म बनेंगे

अहियापुर बाजार समिति का 70 कराेड़ रुपए से आधुनिकीकरण हाेगा। यहां से अतिक्रमण हटाया जाएगा। इसके मुख्य द्वार पर कॉमर्शियल कॉॅम्प्लेक्स बनाए जाएंगे। इसके साथ ही दाे प्लेटफॉर्म व शेड बनेंगे। यहां किसान अपने उत्पाद बेच सकेंगे। इसके कायाकल्प की जिम्मेदारी बिहार राज्य पुल निर्माण निगम काे साैंपी गई है। निगम ने इसके लिए एजेंसी का चयन भी कर लिया है। अब इसी माह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अहियापुर बाजार समिति के साथ ही राज्य की 12 बाजार समितियों के आधुनिकीकरण का ऑनलाइन शिलान्यास करेंगे।

कृषि विभाग के विशेष सचिव सह प्रशासक रवींद्रनाथ राय ने एसडीओ पूर्वी ज्ञान प्रकाश के साथ बुधवार काे अहियापुर बाजार समिति का निरीक्षण किया। करीब 23 एकड़ के बाजार समिति के सभी शेड पर आलू-प्याज के साथ गल्ला व्यापरियों का कब्जा देखकर प्रशासक ने नाराजगी जताई। एसडीओ पूर्वी काे अतिक्रमण हटवाने का निर्देश दिया। ताकि, इसके सभी पुराने शेड व भवनों काे ताेड़कर मास्टर प्लान के अनुसार विकसित किया जा सके।

उन्होंने पांच एकड़ में कॉमर्शियल कॉॅम्प्लेक्स बनाने काे कहा। मछली मंडी काे एक काेने में बनाने कहा। बाजार समिति में ही कम्पोस्ट यूनिट बनाने काे कहा। इससे बाजार समिति की सफाई के साथ ही उससे निकलने वाले जैविक खाद का इस्तेमाल किसान कर सकेंगे।

पहला चरण… 54 बाजार समितियों में 12 काे किया जाएगा डेवलप
राज्य सरकार ने विघटित हाे चुकी 54 बाजार समितियों के विकास पर 2700 कराेड़ रुपए खर्च करने का निर्णय लिया है। पहले चरण में मुजफ्फरपुर समेत 12 बाजार समितियों के विकास के लिए 748 कराेड़ रुपए आवंटित किए गए हैं। सरकार ने वित्तीय वर्ष में 2023-24 तक इन सभी 12 बाजार समितियों काे विकसित करने का लक्ष्य रखा है। इसका उद्देश्य किसानों के उत्पाद का खाद्य प्रसंस्करण एवं कृषि मूल्य वर्धन के लिए विशेष पहल करना है।

ये होंगे कार्य | किसानों के लिए बेडिंग प्लेटफॉर्म, दुकान, वे-ब्रिज, जल निकासी याेजना, प्रशासनिक भवन, श्रमिक विश्राम गृह, अतिथि गृह, मछली बाजार, साेलर पैनल तथा आधारभूत संरचना का निर्माण।

ये हैं 12 समितियां| राज्य के कृषि उत्पादन बाजार समिति मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, माेतिहारी, बेतिया, गया, दाउदनगर, माेहनियां, समस्तीपुर, हाजीपुर, आरा, पटना व पूर्णिया।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.