Breaking News

बिहार विधानसभा का शीतकालीन सत्र होगा हंगामेदार:रोजगार के मुद्दे पर सरकार को घेरने की तैयारी में BJP, JDU भी जवाब देने को तैयार

बिहार में सरकार बदलने के बाद बीजेपी और जदयू में जुबानी जंग छिड़ी गई है। ये जंग रोजगार देने को लेकर है। एक तरफ जहां नीतीश सरकार कार्यक्रम आयोजित कर युवाओं को नौकरी का नियुक्ति पत्र बाट रही। तो वहीं, बीजेपी इस नियुक्ति को रोजगार घोटाला बता रही। बीजेपी का आरोप है कि नीतीश कुमार उन लोगों को नियुक्ति पत्र बांट रही है जिन्हें पहले से हमारी सरकार में नौकरी देने की प्रकिया की जा चुकी थी।

ऐसे में बिहार बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जयसवाल ने प्रेस वार्ता में कहा कि नीतीश कुमार ने 6 बार कार्यक्रम आयोजित कर के नौकरी करने वाले लोगों को फिर से नियुक्ति पत्र बांट कर बिहार की भोली भाली जनता को बेवकूफ बना रहे। जबकि 10 लाख और 19 लाख नौकरी देने वाले आज एक साथ है। आज शिक्षा विभाग में बहुत सी नौकरियां के रिक्त पद है। हमारे साथ सरकार में रहते उस समय के तत्कालिक शिक्षा मंत्री रहे विजय चौधरी ने भी सीटीईटी बीटीईटी सफल छात्रों को जल्द ही रोजगार देने की बात कह रहे थे। आज मौका है नीतीश कुमार के पास कि वे बड़े पैमाने पर शिक्षा विभाग में नौकरी दे सकते है। सारी तैयारी पूरी कर ली गई थी। बस अब नौकरी देना भर रह गया था।

संजय जयसवाल ने नीतीश सरकार से आग्रह किया है की आप 10 लाख नौकरी नही दे सकते लेकिन कम से कम सीटीईटी बीटीईटी पास अभ्यर्थियों को तो नौकरी दे ही सकते है। नीतीश कुमार को शिक्षा विभाग में नौकरी देनी ही पड़ेगी ताकि ये लगे की मौजूदा सरकार ने नौकरी दी है।

इसी बीच जेडीयू के प्रवक्ता अभिषेक झा ने रोजगार देने के मुद्दे पर नीतीश कुमार और बिहार सरकार की जम कर तारीफ की है। अभिषेक ने कहा की मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के तहत बिहार में बेरोजगार को खत्म करने को लेकर वचनबद्ध हैं। अभिषेक ने कहा की बिहार सरकार सरकारी नौकरी के साथ मुख्यमंत्री उद्यमी योजना के तहत 10 लाख रुपए रोजगार के लिए ऋण बांट रही है। जो की भारत भर में एक मिशाल है।

बीजेपी शासित प्रदेशों की तुलना में बिहार इस मामले में अव्वल है।बिहार बीजेपी के अध्यक्ष ने नीतीश सरकार को चेताते हुए कहा की अगर बिहार के सीटीईटी और बीटीईटी नवजवानों के नौकरी की व्यवस्था नहीं हुई तो आने वाले 13 दिसंबर को शुरू होने वाले विधानसभा का सत्र हम किसी कीमत पर चलने नही देंगे।इसके के दबाव में जेडीयू ने 10 दिसंबर को सीटीईटी और बीटीईटी पास अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र बाटने का ऐलान कर दिया है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.