Breaking News

बिहार में ट्रेन रास्ता भूली:अमरनाथ एक्सप्रेस बरौनी से खुली, जाना था समस्तीपुर और पहुंच गई विद्यापतिनगर

बिहार में ट्रेन ही रास्ता भटक गई। उसे जाना कहीं और था और पहुंच कहीं और गई। मामला गुवाहाटी से जम्मूतवी जा रही 15653 अप अमरनाथ एक्सप्रेस का है। ट्रेन गुरुवार तड़के अपना रास्ता भूल गई। बरौनी से खुलने के बाद ट्रेन को जाना था समस्तीपुर, पहुंच गई विद्यापतिनगर। जानकारी के बाद सोनपुर रेल मंडल के अधिकारियों के बीच हड़कंप मच गया।

विद्यापतिनगर पहुंच चुकी ट्रेन को वापस बछवाड़ा लाया गया। फिर उसे समस्तीपुर रवाना किया गया। इस दौरान करीब एक घंटे लग गए। उधर, मामले की गंभीरता को देखते हुए सोनपुर के डीआरएम नील मणि ने बछवाड़ा स्टेशन के सहायक स्टेशन मास्टर कुंदन कुमार और सूरज कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए मामले में जांच का आदेश दिया है। डीआरएम ने कहा कि यह बड़ी लापरवाही है। दोषी को छोड़ नहीं जाएगा।

जानकारी अनुसार अमरनाथ एक्सप्रेस सुबह 4.45 बजे बरौनी से खुली। ट्रेन का सीधा ठहराव समस्तीपुर था। ट्रेन बछवाड़ा में 5.15 बजे थ्रू आउट गुजर रही थी। बछवाड़ा स्टेशन पर गलत लाइन बना होने के कारण बरौनी-समस्तीपुर रूट के बदले ट्रेन बछवाड़ा-हाजीपुर रेल खंड पर जाने लगी।

ट्रेन ड्राइवर ने कंट्रोल को सूचना दी तब पता चला

ट्रेन के चालक जबतक कुछ समक्ष पाते ट्रेन विद्यापतिनगर स्टेशन के आउटर सिग्नल पर पहुंच गई। चालक ने ट्रेन रोक रेलवे कंट्रोल को जानकारी दी। बाद में ट्रेन को बैक कर वापस बछवाड़ा लाया गया। इस दौरान सुबह के छह बज गए। बाद में 6.15 बजे ट्रेन को समस्तीपुर के लिए रवाना किया गया।

नींद में रहने के कारण बना गलत ट्रैक
रेलवे सूत्रों ने बताया कि तड़के होने के कारण एएसएम समेत स्टेशन पर तैनात कर्मी नींद में थे। चूंकि बछवाड़ा स्टेशन पर ज्यादा ट्रेनों का ठहराव नहीं है। अधिकतर ट्रेन बिना रुके ही गुजरती है। माना जा रहा है कि रेलवे कर्मियों के नींद में रहने के कारण गलत ट्रैक बना दिया गया। फलस्वरूप पूरी स्पीड से आ रही अमरनाथ एक्सप्रेस ट्रेन ट्रैक बदल कर विद्यापतिनगर पहुंच गई।

जांच का आदेश दिया
तत्काल इस मामले में दो एएसएम को निलंबित किया गया है। पूरे मामले में जांच का आदेश दिया गया है। जांच रिपोर्ट में दोषी पाए जाने वाले अन्य कर्मियों पर भी कार्रवाई होगी।
-नील मणि, डीआरएम सोनपुर

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.