Breaking News

राजनीतिक जीवन की अल्पावधि में महानतम उंचाई को छूकर इतिहास में अमर हो गये डाo मुखर्जी : रंजन

मुजफ्फरपुर : भारतीय जनसंघ के संस्थापक, प्रख्यात शिक्षाविद प्रखर राष्ट्रवादी नेता डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की 69वीं पुण्यतिथि को गुरूवार को भाजपा ने अपने सभी संगठनात्मक मंडलों में बलिदान दिवस के रूप में मनाया। जगह-जगह वृक्षारोपण एवं विचार गोष्ठी का हुआ आयोजन।

इस अवसर पर जिलाध्यक्ष रंजन कुमार की अध्यक्षता में स्थानीय चक्कर चौक स्थित किड्जी स्कूल के प्रांगण में जिला भाजपा द्वारा आयोजित मुख्य कार्यक्रम में श्यामा प्रसाद मुखर्जी व्यक्तित्व व कृतित्व पर विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया जहां डा. मुखर्जी के तैलचित्र पर माल्यार्पण व श्रद्धासुमन अर्पित कर पार्टी नेता व कार्यकर्ताओं ने उनके बताए मार्ग पर चलने के साथ वृक्षारोपण कर पर्यावरण संरक्षण का संकलप लिया।

गोष्ठी में अपने विचारों को व्यक्त करते हुए भाजपा जिलाध्यक्ष रंजन कुमार ने कहा कि राष्ट्रवाद की विचारधारा, देश की एकता और अखंडता के लिए प्रतिबद्धता तथा राजनीतिक विकल्प के बीजारोपण के लिए आजादी के बाद के इतिहास में अगर किसी एक राजनेता का स्मरण आता है तो वह डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी हैं जो अपने राजनीतिक जीवन में बिताए अल्पावधि में महानतम उंचाई को छूकर इतिहास में अमर हो गये। उन्होंने कहा कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी सिर्फ एक व्यक्ति नहीं बल्कि विचार थे और उनके विचार को अंजाम तक पहुंचाने का कार्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इच्छाशक्ति और गृह मंत्री अमित शाह की रणनीति ने जम्मू एवं कश्मीर से धारा 370 हटाकर किया।
उन्होंने कहा कि भारत की एकता-अखंडता के लिए जिवनोत्सर्ग करने वाले अद्भुत प्रतिभा एवं संकल्पवान निष्ठा के व्यक्तित्व, भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी का व्यक्तित्व, कार्य संस्कृति एवं उनकी जीवनी राजनैतिक मार्ग में कार्यकर्ताओं के लिए दिग्दर्शन है।

भाजपा जिलाध्यक्ष ने कहा कि डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी नवभारत के निर्माताओं में से एक महत्त्वपूर्ण स्तम्भ हैं। अखंड भारत के निर्माण में डॉ. मुखर्जी के योगदान को भुलाया नहीं सकता। उन्हें किसी दल की सीमाओं में नहीं बांधा जा सकता क्योंकि उन्होंने जो कुछ किया राष्ट्र की एकता और अखंडता के लिए किया भारत भूमि के लिए जिवनोत्सर्ग करने वाले ऐसे महामानव प्रखर राष्ट्रवादी के दिखाए मार्ग पर चलना भाजपा के एक एक कार्यकर्ता के लिए परम सौभाग्य की बात है।

विचार गोष्ठी में श्यामा प्रसाद मुखर्जी के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए प्रदेश महामंत्री बेबी कुमारी ने डॉ मुखर्जी को मां भारती का सच्चा सपूत बताते हुए कहा कि उनकी परिकल्पना ‘ एक विधान, एक निशान, एक प्रधान’ राष्ट्रीय एकता और अखंडता का मूलमंत्र है। जिस धारा 370 को हटाने का संकल्प स्वर्गीय मुखर्जी ने लिया था उसे पीएम मोदी ने पूरा कर दिखाया। कहा कि आज जब देश में कुछ राष्ट्रद्रोही शक्तियां सिर उठा रही हैं, ऐसे में डा. मुखर्जी के विचारों को जन जन तक पहुंचाने की जरूरत है, ताकि लोग देशद्रोही शक्तियों से निपटने के लिए तन-मन से तैयार हो सकें।

मौके पर जिला उपाध्यक्ष हरिमोहन चौधरी ने कहा कि डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के रूप में देश को एक ऐसा दूरदर्शी नेता मिला जिसने भारत की समस्याओं के मूल कारणों तथा उसके स्थायी समाधान पर जोर दिया और उनके लिए जीवन पर्यन्त संघर्ष किया।’
उन्होंने कहा कि ‘कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाए रखने और देश की एकता और अखंडता के लिए उनका समर्पण और बलिदान देशवासियों को सदैव प्रेरित करता रहेगा।’

इस दौरान सीतामढ़ी के जिला प्रभारी विवेक कुमार, मधुबनी प्रभारी अशोक सहनी, जिला उपाध्यक्ष राज कुमार साह, जिला महामंत्री मनोज कुमार सिंह, महिला मोर्चा अध्यक्ष डाo रागिनी रानी, किसान मोर्चा अध्यक्ष उमेश पाण्डेय, जिला प्रवक्ता संचित शाही, जिला मिडिया प्रभारी सम्राट कुमार, साहु भूपाल भारती ने भी डाo श्यामा प्रसाद मुखर्जी से जुड़ी बातों पर विचार व्यक्त किया।

कार्यक्रम का संचालन जिला महामंत्री सह मुख्यालय प्रभारी सचिन कुमार एवं धन्यवाद ज्ञापन महामंत्री धर्मेंद्र साहु ने किया।

इस अवसर पर मुख्य रूप से
जिला मंत्री रविकांत सिन्हा, सुरेश चौधरी भोला, जिला प्रवक्ता आशीष पिंटू,
प्रभात कुमार, धनंजय झा, सुजीत कुमार, नंद किशोर पासवान, उमेश पांडे, फेकू राम, देवांशु किशोर , रेखा सोनी,
कनकमनी, बॉबी, सुप्रिया सिंह अलीमुद्दीन चून्नू, भारत रत्न यादव, मो० शाहिद, विजय पांडे, केशव चौबे, अनिल कुमार सिंह, आनंद राठौर, भारत भूषण, विकास गुप्ता आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.