Breaking News

शराब पीने के बाद अब बिहार के चूहों ने नालों को कर दिया जाम! DM साहब के आवास के सामने भी जलभराव

छपरा (सारण). बिहार में मानसून की बारिश शुरू हो चुकी है. प्रदेश के कई हिस्‍सों में तेज बारिश हो रही है. छपरा में भी मानसून की बारिश हुई है. बारिश के साथ ही जलभराव की समस्‍या भी सामने आने लगी है. नगर निगम और स्‍थानीय प्रशासन के दावों की पोल पहली बारिश में ही खुल गई. छपरा में हर तरफ पानी ही पानी नजर आने लगा. हालत यह हो गई कि कलेक्‍टर आवास के सामने भी जलभराव हो गया. जब नगर निगम की व्‍यवस्‍थाओं पर सवाल उठने लगा तो अधिकारियों ने नाला जाम होने का ठीकरा चूहों पर फोड़ दिया. नगर निगम के अधिकारियों ने बताया कि चूहों ने नालों में मिट्टी को खोदकर ऊपर कर दिया, जिस वजह से नाला जाम हो गया और जलभराव की समस्‍या उत्‍पन्‍न हो गई. बता दें कि इससे पहले बिहार के अधिकारी चूहों द्वारा शराब पीने की बात भी कह चुके हैं.विज्ञापन

छपरा में बदमाश चूहों ने शहर के अधिकांश नालों को जाम कर दिया. ऐसा हम नहीं कह रहे हैं, बल्कि नगर निगम के अधिकारियों का ऐसा मानना है. दरअसल, नगर निगम के सफाई अभियान में यह हकीकत सामने आ रही है. चूहों ने नालों में मिट्टी भर दिया है, जिसके कारण मानसून की पहली बारिश में ही डीएम आवास के सामने भारी जल जमाव हो गया. दरअसल, मानसून की पहली बारिश के साथ ही शहर में नालों की स्थिति की हकीकत सामने आ गई है. कई जगह पर जलजमाव लगने के बाद नगर निगम अब हरकत में आया है. मानसून पूर्व नगर निगम द्वारा सफाई न करने से शहर के अधिकांश नाले जाम थे. अब बुलडोजर लेकर नगर निगम के अधिकारी नालों की सफाई कर रहे हैं.

शहर में जल जमाव के लिए चूहों को दोषी ठहराया जा रहा है. नगर निगम के सफाई इंस्पेक्टर संजय कुमार ने बताया कि वे लोग वार्ड नंबर-22 में मुख्य नाले की सफाई करने निकले थे. जब नाले को खोला गया तो अंदर से चूहे निकले, जिन्होंने नालों में घर बना लिया था. इन चूहों ने नाले के अंदर भारी मात्रा में मिट्टी एकत्र कर ली थी, जिसके कारण नाले में पानी का बहाव रुक गया था और जगह-जगह जल जमाव हो रहा था. जलजमाव की चपेट में डीएम आवास और एसपी आवास भी आ गए थे. साथ ही जेल के सामने भी जलजमाव हो रहा था, जिसके कारण लोग परेशान थे. हालांकि, सफाई के बाद अब पानी का बहाव सुचारू हो गया है. गौरतलब है कि बिहार में इसके पूर्व शराब पीने और तटबंधों को क्षतिग्रस्त करने के लिए चूहों को दोषी ठहराया जा चुका है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.