Breaking News

फूड डिलीवरी बॉय बना सॉफ्टवेयर इंजीनियर, सोशल मीडिया पर वायरल हुई सक्सेस स्टोरी

सोशल मीडिया पर एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर की सक्सेस स्टोरी (Success Story) वायरल हो रही है. कभी जोमैटो, स्विगी से फूड डिलीवर करने वाला शख्स अब एक कामयाब सॉफ्टवेयर इंजीनियर है. शेख अब्दुल सत्तार ने अपने संघर्ष को लिंक्डन पर शेयर की. इस वायरल पोस्ट में शेख ने बताया कि, पहले वह अपनी फैमिली को आर्थिक रूप से सपोर्ट करने के लिए ओला, स्विगी, उबर, रैपिडो और ज़ोमैटो के लिए काम करता था

मैं एक डिलीवरी बॉय हूं मेरा एक सपना है. मैंने ओला, स्विगी, उबर, रैपिडो, जोमैटो के साथ काम किया. मैं कॉलेज के अपने अंतिम वर्ष के बाद से हर जगह रहा हूं. क्योंकि मेरे पिता एक कॉन्ट्रेक्ट कर्मचारी हैं इसलिए हमारे पास बस इतना ही पैसा था कि हम अपना गुजारा कर सकें. इसलिए मैं जितना हो सके काम करके परिवार की मदद करना चाहता था. मैं शुरू में डरपोक था, लेकिन एक डिलीवरी बॉय होने के नाते मैंने बहुत कुछ सीखा.”

अपनी सक्सेस स्टोरी को शेयर करते हुए शेख अब्दुल सत्तार ने कहा कि, उसके एक दोस्त ने जोर देकर कहा कि कोडिंग कोर्स ज्वाइन करने को कहा. इससे उसे एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने में मदद ली.

‘जॉब से पैसा कमाकर, पूरा किया सपना’ 

शेख अब्दुल ने यह भी बताया कि उसने कोडिंग सीखने के लिए शाम 6 बजे से दोपहर 12 बजे तक डिलीवरी का काम किया. मैंने अपनी जॉब से जो पैसा कमाया, उसे मैंने पॉकेट मनी के रूप में इस्तेमाल किया और अपने परिवार की छोटी-छोटी जरूरतों के लिए भी. जल्द ही मैं खुद वेब एप्लिकेशन तैयार करने लगा. मैंने कुछ प्रोजेक्ट पूरे किए और नौकरी के लिए कंपनियों में आवेदन करना शुरू कर दिया.

इसके अलावा शेख अब्दुल सत्तार ने यह भी कहा कि, उन्हें डिलीवरी एजेंट होने के अपने काम पर गर्व है क्योंकि अपने कर्तव्य ने उन्हें बहुत कुछ सिखाया. “मेरे डिलीवरी बॉय के अनुभव ने मुझे लोगों से मेलजोल बढ़ाने में मदद की. आज जॉब के बाद ऐसी स्थिति में आ गया जहां मैं अपने माता-पिता के कर्ज को कुछ महीनों की सैलरी से चुका सकता हूं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.