Breaking News

हीट वेव और बढ़ते कोरोना में इन बातों ख्याल रखें, जानें…

मौसम का मिजाज लगातार गर्म होता जा रहा है। ऐसे में बड़े बच्चों से ज्यादा छोटे बच्चों की देखभाल जरूरी है। बढ़ती गर्मी में जहां नवजात बच्चों का विशेष ख्याल रखने की जरूरत है। आइए जानते हैं कि बढ़ती गर्मी में हम कैसे नवजात बच्चों का ख्याल रखें। साथ ही कौन की एतिहात बरतने की जरूरत है..

जेनरल फिजिशियन डॉ.अरविंद कुमार झा ने बताया कि बिहार का तापमान लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में नवजात बच्चे का विशेष ख्याल रखने की जरूरत है। डॉ अरविंद ने बताया कि नवजात जो 28 दिन के अंदर के बच्चों के लिए अगल देखभाल की जरूरत है। बच्चे को गर्म कपड़े से ढक कर रखें। अगर शरीर पर दाना या बुखार आए तो तुरंत शिशु रोग विशेषज्ञ से मिले। नवजात बच्चे को मां का दूध पिलाते रहना है। बच्चे का टीकाकरण नियमित रूप से करवाते रहें। अगर कोई समस्या हो तो नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर जरूर दिखावें।

बड़े को रात में कभी भी खाली पेट सोने नहीं दें, लगातार अंतराल पर पिलाएं पानी

डॉ.झा ने बड़े बच्चों के लिए भी कई अहम बातें बतलाई। उन्होंने कहा कि बड़े बच्चों के लिए देखभाल की अलग जरूरत पड़ती हैं। अभी एईएस या चमकी बुखार मुजफ्फरपुर में काफी फैला हुआ है। इसको लेकर अलर्ट जारी है। जहां जागरूकता की कमी है। वहां इसको फैलाने की जरूरत है। बच्चों को धूप में न जाने दें। अभी का धूप काफी ज्यादा है। हीट वेब को लेकर अलर्ट जारी है। यह अभी बहुत कॉमन है। बच्चों को लू से बचाएं। बच्चों को पानी निरंतर पिलाएं। घर में जिंक का पाउडर रखें। बच्चे रात में भूखे नहीं सोये इसका का विशेष ख्याल रखना है। अगर बच्चों को कपकपी या बुखार का सिमटम दिखता है तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं। उचित सलाह लेकर उपचार शुरू करें।

छाता के साथ सर को ढ़क कर रखें, मास्क का अभी करें प्रयोग

गर्मी के समय में छाता का प्रयोग करें। इसके साथ सर को ढ़क कर रखें। कोरोना के साथ हीट वेब से लोगों को परेशानी बढ़ने वाली है। ऐसे में हल्का खाना का प्रयोग करें। तेल और मसाला का कम प्रयोग करें। पानी नियमित रुप से 4-5 लीटर पीयें। नारियल पानी और छाछ बहुत ही लाभकारी होगा। यह आपको हीट स्ट्रोक से बचाएगा। बाहर जब भी निकले तो पानी साथ में लेकर चले। नियमित अंतराल पर पानी का सेवन करना चाहिए।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.