BIHARBreaking NewsSTATE

मुजफ्फरपुर में महिला सिपाही ने खुद को लगाई आग

मुजफ्फरपुर से एक सनसनीखेज वारदात सामने आई है। जहां पुलिस लाइन में बुधवार को एक महिला सिपाही ने खुद के शरीर में आग लगाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया। आग बुझाने के दौरान उसका पति भी गम्भीर रूप से झुलस गया। घटना की सूचना के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। आनन फानन में दोनों को SKMCH ले जाया गया। वहां से तुरंत रेफर कर दिया गया। इसके बाद पुलिसकर्मी उसे लेकर पटना के अपोलो अस्पताल में भर्ती करा दिया।

सिपाही की पहचान पटना के बाढ़ की रागिनी कुमारी (32) और पति मुन्ना कुमार (35) के रूप में हुई है। दोनों को एक बेटा और एक बेटी भी है। घटना को दिन भर पुलिस ने दबाकर रखा। आखिरकार शाम को मामला खुलकर सामने आ गया।

SSP जयंतकांत ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया की घरेलू विवाद में महिला सिपाही ने आत्महत्या करने का प्रयास किया है। इसमें उसके पति भी झुलस गए हैं। महिला की हालत अधिक गम्भीर है। वह करीब 80% जल चुकी है। उसका बचना मुश्किल लग रहा है। लेकिन, अभी तक वह जीवित है।

भाई ने कहा, नहीं पता क्यों लगाई आग

घटना की सूचना पर महिला सिपाही के भाई संजीत कुमार भी अस्पताल पहुंचे। जहां अहियापुर थाना के दरोगा बानेश्वर किस्कू ने उसका बयान दर्ज किया। इसमें संजीत ने बताया की आज तक कभी उसकी बहन ने घरेलू विवाद का जिक्र उससे नहीं किया था। आग क्यों और कैसे लगाई, इसकी जानकारी उसे नहीं है। हालांकि, SSP ने पूरे मामले में स्पष्ट करते घरेलू विवाद और पति-पत्नी के बीच झगड़े को वजह बताया है।

बंद कमरे में घटी घटना

बताया गया की महिला सिपाही फिलहाल कोर्ट परिसर में सुरक्षा व्यवस्था की ड्यूटी में तैनात है। वह अपने पति और दो बच्चों के साथ पुलिस लाइन स्थित सरकारी क्वार्टर में रहती है। सूत्रों की माने तो दोनों के बीच अक्सर लड़ाई-झगड़े होते रहते थे। आज बंद कमरे में अंदर क्या हुआ, यह किसी ने नहीं देखा। लेकिन, कहा जा रहा है की दोनों के बीच जमकर लड़ाई हुई थी। इसके बाद महिला सिपाही ने अपने शरीर में आग लगाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया। पुलिस की माने तो आग बुझाने के क्रम में उसका पति भी चपेट में आ गया।

कमरे से तेल की आ रही थी महक

घटना के बाद पुलिस जब वहां पहुंची तो कमरे से तेल की महक आ रही थी। लेकिन, ये केरोसिन का तेल था या पेट्रोल, यह कहना मुश्किल है। इसके लिए गुरुवार को FSL की टीम को बुलाया जाएगा। दरोगा ने बताया की घटना को अंजाम बन्द कमरे में दिया गया है। पुलिसकर्मियों ने दरवाजा तोड़कर दोनों को बाहर निकाला था। घटना के समय दोनों के बच्चे वहां पर नहीं थे। वे बाहर गए हुए थे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.