BIHARBreaking NewsSTATE

अफरा-तफरी : लॉकडाउन की घोषणा होते ही, ढाई घंटे में बिक गया 4 करोड़ का आटा व चावल

राज्य में लॉकडाउन की घोषणा होते ही मंगलवार की दोपहर अचानक किराना दुकानों में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। राजधानी के विभिन्न इलाकों में स्थित किराना दुकानों में शाम 4 बजे तक खरीदारी को लेकर अफरा-तफरी मची रही। लोगों ने आम दिनों की तुलना में दोगुना आटा और चावल खरीद लिया। नतीजा, ढाई घंटे में ही 4 करोड़ का आटा और चावल बिक गया। अन्य दिनों में आटा और चावल का कारोबार 2 करोड़ तक का होता था। वहीं खाद्य तेल और मसालों का कारोबार भी 90 लाख तक पहुंच गया।

यह आम दिनाें में 60 से 65 लाख के बीच रहता था। बेली रोड स्थित ऑल इन वन जनरल स्टोर के ऑनर ललन केसरी ने बताया कि आटा और चावल के अलावा लोगों ने ब्रेड, बिस्कुट, मैगी, मसालों की भी खूब खरीदारी की। कई दुकानों में शाम 4 बजे तक ब्रेड, बिस्कुट सहित अन्य खाद्य सामग्री का स्टॉक खत्म हो गया, वहीं भीड़ बढ़ने पर कुछ दुकानदारों ने अपनी दुकान को बंद कर लिया। हालांकि, बिग बाजार सहित अन्य सुपर मार्केट और मॉल में किराना सामान की कोई कमी नहीं थी।

कालाबाजारी की आशंका

लॉकडाउन की घोषणा की बाद खाद्य पदार्थों की कालाबाजारी की अाशंका प्रबल हाे गई है। खुदरा कारोबारी बंटी कुमार ने बताया कि पिछले वर्ष के लॉकडाउन की तरह आटा और चावल का स्टॉक प्रचुर मात्रा में उपलब्ध होने के बाद भी थोक व्यवसायी माल दबा सकते हैं। कृत्रिम किल्लत उत्पन्न कर अधिक दाम वसूल सकते हैं। एक दुकानदार ने नाम नहीं उजागर करने की शर्त पर बताया कि पटना सिटी, पटना, दानापुर सहित अन्य मंडियों में थोक व्यवसायियाें ने माल दबाना शुरू कर दिया है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.