BIHARBreaking NewsMUZAFFARPURSTATE

मुजफ्फरपुर : ऑक्सीजन की मांग 3000 सिलेंडर, आपूर्ति @ 1082, शेष मरीजों का क्या हाल होगा?

ऑक्सीजन को लेकर हाहाकार मचा हुआ है। दामोदरपुर स्थित प्लांट बंद होने के कारण सरकारी से लेकर निजी अस्पताल तक ऑक्सीजन नहीं मिलने से परेशानी रही। आवश्यकता प्रतिदिन तीन हजार सिलेंडर की है, लेकिन उत्पादन 1082 बड़ा व 183 छोटा सिलेंडर का हुआ। इधर वैशाली कोविड केयर सेंटर के वरीय चिकित्सक डॉ.गौरव वर्मा ने बताया कि उनके यहां एक दर्जन मरीज आइसीयू में इलाजरत हैं। उनकी हालत बिगड़ी तो वह किसी तरह से अपने अस्पताल से बेला गए तथा कंधे पर सिलेंडर लाकर जान बचाई। बहुत ही गंभीर हालत है। अगर ऑक्सीजन की आपूर्ति समय पर नहीं हुई तो चाहकर भी कोरोना से गंभीर रोगी की जान को बचाना मुश्किल होगा। अशोका अस्पताल के संचालक डॉ.सुभाष कुमार ने बताया कि उनके यहां शनिवार को ऑक्सीजन की कमी होने के कारण आधा दर्जन मरीज की सांसें अटकी रही। तीन को रेफर करना पड़ा। देर शाम ऑक्सीजन मिलने के बाद काफी राहत मिली। मां जानकी अस्पताल के संचालक धीरेंद्र कुमार ने बताया कि उनके यहां सुबह के लिए ऑक्सीजन तो शाम के लिए भटकना पड़ृ रहा है। ऑक्सीजन की कमी के कारण वह इलाज नहीं कर पा रहे हैं। अगर यहीं हालत रही तो मरीज को बचाना मुश्किल होगा।

ड्रग इंस्पेक्टर उदयवल्लभ ने बताया कि दो दिन से बोकारो से लिक्विड नहीं मिलने से दामोदरपर की यूनिट बंद है। कल से वह चालू हो जाएगा। इस बीच बेला स्थित फैक्ट्री से हर जगह पर आपूर्ति की गई। कहीं पर कोई परेशानी नहीं हुई। दोनों फैक्ट्री चलने से परेशानी कम रहती है।

गायघाट में नहीं हुई कोरोना जांच

गायघाट (मुजफ्फरपुर), संस : सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर रविवार को कोविड-19 की जांच बंद रही। इससे दर्जनों लोग बिना जांच कराए वापस लौट गए। बता दें कि स्वास्थ्य विभाग के अनुसार प्रतिदिन कोविड 19 की जांच होनी है। बताते हैैं कि शुक्रवार से ही किट की कमी चल रही है। सीएचसी पहुंचे बहादुरपुर निवासी परमानंद मिश्र, उमा शंकर मिश्र, सीताराम व मैठी टोल प्लाजा के कॢमयों ने बताया कि दो दिनों से कोरोना की जांच कराने के लिए अस्पताल का चक्कर लगा रहे हैं। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी पीएसपी गुप्ता ने बताया कि किट उपलब्ध नहीं होने से जांच की प्रक्रिया बाधित है। स्वास्थ्य प्रबंधक ओबैद अंसारी ने बताया कि किट समाप्त हो जाने की सूचना जिला स्वास्थ्य पदाधिकारी को दी गई है। जल्द ही जांच व्यवस्था ठीक हो जाएगी।  

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.