BIHARBreaking NewsSTATE

पटना में हुई इंडिगो मैनेजर की ह’त्या, तेजस्वी यादव बोले- बिहार में अब अप’राधी ही सरकार चला रहे हैं

पटना: राजधानी पटना में मंगलवार को इंडिगो के मैनेजर रूपेश कुमार सिंह की दिन’दहाड़े हुई ह’त्या को लेकर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ‘ने बिहार सरकार पर बड़ा ह’मला बोला है. तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार में अब अप’राधी ही सरकार चला रहे हैं. उन्होंने आ’रोप लगाया कि रूपेश की ह’त्या सत्ता संरक्षित अप’राधियों ने की.

तेजस्वी यादव ने ट्वीट किया, “सत्ता संरक्षित अप’राधियों ने पटना में एयरपोर्ट मैनेजर रूपेश कुमार सिंह की उनके आवास के बाहर गो’लियां मा’र हत्’या कर दी. वह मिलनसार और मददगार स्वभाव के धनी थे. उनकी असामयिक मृत्यु से बहुत दुखी हूं. भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे. बिहार में अब अप,’राधी ही सरकार चला रहे हैं.”

दिनद’हाड़े गो’लियों से भू’ना
रूपेश कुमार को बद’माशों ने शाम करीब साढ़े चार बजे तब गोली मारी जब वो ऑफिस से लौटे थे. उन पर करीब 6 राउंड गो’लियां चलाई गईं. स्थानीय लोगों के मुताबिक अप’राधी घ’टना को अंजाम देने के बाद वहां से फरार हो गए. घट’ना के बाद आनन फानन में उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इ’लाज के दौरान उनकी मौ’त हो गई. इस मामले में अभी तक पुलिस के हाथ खाली हैं. पटना के एसएसपी उपेंद्र शर्मा का कहना है कि अभी मामले की जांच की जा रही है. रूपेश छपरा के रहने वाले थे और पटना में पुनाईचक में रहते थे.

छुट्टी मनाकर कल ही लौटे थे गोवा से
घ’टना के संबंध में रूपेश के दोस्त शैलेन्द्र प्रताप ने बताया कि रूपेश को आज ऑफिस लौटने के दौरान गो’ली मा’री गई है. उन्होंने बताया कि रूपेश काफी सुलझा हुआ इंसान था. उसका कभी किसी से कोई वि’वाद उनके सामने नहीं हुआ. उन्होंने कहा कि रूपेश काफी सामाजिक व्यक्ति थे, सामाजिक कामों में हिस्सा लेते थे. रूपेश के दोस्त ने कहा कि रूपेश कल ही गोवा से छुट्टी मनाकर लौटा था और आज ये हादसा हो गया. उन्होंने बताया कि पटना में वो अपनी पत्नी और दो बाच्चों के साथ रहते थे.

बीजेपी सांसद ने पुलिस पर उठाए सवाल
बीजेपी नेता एवं राज्यसभा सांसद विवेक ठाकुर ने पटना में हुई हत्या को दुखद और गंभीर बताया. उन्होंने कहा, “शून्य आपराधिक पृष्ठभूमि वाले व्यक्ति की दिनद’हाड़े गो’ली मा’रकर ह’त्या होना दु’र्भाग्यपूर्ण है, यह बिहार में एनडीए की नवनिर्वाचित सरकार के लिए चुनौतीपूर्ण स्थिति है. ये घ’टना बिहार पुलिस पर प्रश्नवाचक चिन्ह है.”

विवेक ठाकुर ने कहा पुलिस को तीन से पांच दिनों के अंदर एक निष्कर्ष पर आना ही पड़ेगा. बिहार पुलिस अपनी सक्षमता से स्थिति का जायजा ले और अगर सफलता दूर लगे तो केस को बिना देर किए सीबीआई को सौंपे. विवेक ठाकुर ने कहा कि रूपेश अपने क्षेत्र में सामाजिक रूप से बहुत काम करते थे और लोकप्रिय थे. क्या ये ह’त्या राजनीति से प्रेरित है या राज्य में खौ’फ पैदा करने की कोशिश है. प्रशासन अविलंब अप’राधियों को गिर’फ्तार करे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.