BIHARBreaking NewsCRIMEMUZAFFARPURSTATEUTTAR PRADESH

हाथरस की घ’टना को लेकर UP के CM योगी आदित्यनाथ के खि’लाफ मुजफ्फरपुर में प’रिवाद, लगा यह आ’रोप

हाथरस में हुई सामूहिक दु’ष्कर्म की घ’टना को लेकर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के खि’लाफ मुख्य न्यायिक ‘दं’डाधिकारी सीजेएम के कोर्ट में गुरुवार को परिवाद दाखिल किया गया है। इसे मिठनपुरा थाना के पक्की सराय निवासी मानवाधिकार सामाजिक कार्यकर्ता एम.राजू नैय्यर ने दाखिल किया है। सीजेएम ने परिवाद को सु’नवाई पर रखा है। इसके लिए नौ अक्टूबर की तारीख मुकर्रर की है। 

ये लगाए आरो’प

परिवाद में एम. राजू नैय्यर ने कहा है कि यूपी के हाथरस में 14 सितंबर को सामूहिक दु”ष्कर्म की घ’टना हुई। उस पर जा’नलेवा हमला हुआ। बाद मे दिल्ली के एक अस्पताल में उसकी मौ’त हो गई। अंतिम संस्कार के लिए श’व स्वजनों को नहीं सौंपा गया। स्वजनों की ‘पि’टा’ई की गई। साक्ष्य छिपाने और बड़े राजनेताओं को बचाने के लिए उसके श’व को आन’नफा’नन में ज’ला दिया गया। परि’वाद में कहा है कि यूपी के मुख्यमंत्री होने के नाते योगी आदित्यनाथ की जवाबदेही बनती है कि शव को स्वजनों के हवाले कराकर रीति-रिवाज से अंतिम संस्कार करवाते। 

हाथरस कांड के खि’लाफ पुतला फूं’का

भाकपा (माले)न्यू डेमोक्रेसी की प्रखंड कमेटी के तत्वाधान में यूपी के हाथरस जिले में किशोरी से दु’ष्कर्म व ह’त्या मामले को लेकर यूपी के सीएम का पुतला दहन किया गया। इससे पहले मुशहरी प्रखंड बाजार पर रैली व सभा हुई। अध्यक्षता प्रखंड सचिव राजकिशोर राम ने की। संबोधित करते हुए पार्टी प्रवक्ता सह जिला पार्षद रूदल राम ने घट’ना में शामिल दो’षियों को फां’सी देने की मांग की। सभा में रामवृक्ष राम, इलियास, इस्माइल, जब्बार, कृष्णा महतो, रीता देवी, महा देवी, शिवा देवी, शबाना ख़ातून, शिवशंकर महतो, मो़ कलाम, नीलकमल, संतोष कुमार आदि थे। 

एआइडीएसओ ने निकाला प्रतिरोध मार्च

हाथरस कांड के खिलाफ ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक स्टूडेंट ऑर्गेनाइज़ेशन एवं ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक यूथ ऑर्गेनाइज़ेशन ने संयुक्त रूप से प्रतिरोध मार्च निकाला। सरैया मुख्य बाज़ार होते हुए मार्च जैंतपुर मोड़ पहुंच सभा में तब्दील हो गया। मार्च में डीवाइओ के प्रखंड सचिव अनिल कुमार, अर्पणा प्रीतम, शारदा कुमारी, अंजली कुमारी, जानकी कुमारी, लक्ष्मी कुमारी, राजन कुमार, निशांत कुमार, खुर्शीद आलम, रजा कादिर आदि शामिल थे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.